News Vox India
यूपी टॉप न्यूज़राजनीतिशहरस्पेशल स्टोरी

एमजेपी रुहेलखंड के दीक्षांत समारोह में शामिल हुई आनंदीबेन ,  मेधावी छात्र छात्राओं को मिले मेडल और उपाधि,

बरेली। महात्मा ज्योतिबा फुले रुहेलखंड विवि में आज 21 वां दीक्षांत समारोह आयोजित हुआ , जिसमें कुलाधिपति एवं राज्यपाल आनंदी बेन ने कार्यक्रम में शिरकत की। इस मौके पर गवर्नर आनंदीबेन ने 79 मेधावी छात्र छात्राओं को मेडल देने के साथ एशियन गेम्स में देश का प्रतिनिधित्व करने करने वाले दो खिलाड़ियों के सहित कुल 149 उपाधि प्राप्त करने वाले छात्र छात्राओं को सम्मानित किया।

Advertisement

 

 

इस मौके पर गवर्नर आनंदी बेन ने मेडल और उपाधि पाने वालों में महिलाओं की संख्या को देखकर चुटकी लेते हुए कहा कि यहां तो महिलाएं तो पुरुषों से आगे है। अभी तक तो महिला सशक्तिकरण की बात होती थी , अब पुरुषों की सशक्तिकरण करने की बात करनी होगी । वह कैसे हो यह हमारे गुरुजनों को चिंता करने की जरूरत है। वही आनंदीबेन यूपी की विश्वविद्यालयों की चर्चा करते हुए कहा कि सभी विश्वविद्यालयों में डिजी लॉक की व्यवस्था हो चुकी है। डिजी लॉक से ही डिग्री और अंकतालिका लोड की जा सकेगी। ऐसे लोग जो फर्जी डिग्री लेकर जाते थे उन्हें कोई फायदा नहीं होगा।

 

आनंदी बेन ने यह भी कहा कि सभी को क्वालिटी एजुकेशन में आना चाहिए । बच्चे शान से पढ़े ,यह होना चाहिए। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि पीएम मोदी से वह कोरोनाकाल में मिली थी , उनकी प्रेरणा से उन्हें अच्छा काम करने की प्रेरणा मिली। उन्होंने यह भी कहा कि यूनिवर्सिटी द्वारा 5 गांव गोद लिए जाने पर कहा कि इन गांवो में जल सरंक्षण , नशा मुक्त, टीवी मुक्त , कुपोषण मुक्त , आंगनबाड़ी में कक्षा 1 तक पढ़ाई जरूर होना चाहिए।

 

कुलपति केपी सिंह ने अपने संबोधन में विवि की प्रगति बताने के साथ दीक्षांत समारोह में शामिल हुए सभी अतिथियों का स्वागत किया। उन्होंने यह भी कहा कि कुलाधिपति आनंदीबेन की प्रेरणा से विवि की यह प्रगति संभव हुई है।

कार्यक्रम में शामिल होने आई राज्य उच्च शिक्षा मंत्री रजनी तिवारी ने कहा कि वह पदक और उपाधि मिलने वाले सभी बच्चों को अपनी बधाई देती है। वह अपने परिवार , देश ,और खुद का नाम ऊंचा करें। उन्होंने यह भी कहा कि इस तरह के दीक्षांत समारोह बच्चों को आशीर्वाद देने के लिए होते है। उन्होंने यह भी कहा कि रूहेलखंड यूनिवर्सिटी में मेडल पाने में महिलाओं की ज्यादा संख्या यह बताने को काफी है कि महिला सशक्तिकरण में बहुत काम हुआ है।

 

 

रजनी तिवारी ने यह भी कहा कि नई शिक्षा नीति 2020 से सभी का सर्वागीण विकास के साथ रोजगार मिले , इसलिए इस नीति को लागू किया गया है। पीएम मोदी ने भी इस बात पर जोर दिया है।उन्होंने मेधावी छात्र छात्राओं से कहा कि वह पॉजिटिव सोच के साथ आगे बढ़े , आप अपने लिए ईमानदार होंगे तभी समाज के लिए कुछ कर पाएंगे। मुश्किलें आएंगी लेकिन रुकना नहीं आगे बढ़ते रहना है।

राष्ट्रीय शैक्षिक प्रोधोगिकी के अध्यक्ष प्रोफेसर अनिल सहस्रबुद्धे ने कहा मेडल और उपाधि पाने वाले सभी मेधावी छात्र छात्राओं को अपनी शुभकामनाएं दी और कहा कि आप सभी को आगे 100 सालों में भारत कहा होगा उसकी क्या जरूरतें होंगी , उसकी कल्पना करना है। और उसे पूरा करना है। प्रोफेसर अनिल ने यूपी के विश्वविद्यालयों के पढ़ाई का माहौल गुजरात ,महाराष्ट्र , के साथ अन्य प्रदेशों से अच्छा है। यह सब संभव महामहिम आनंदीबेन के चलते संभव हुआ है।

बता दे कि दीक्षांत समारोह रुहेलखंड यूनिवर्सिटी की अटल सभागार में हुआ ।जहां कुलाधिपति आनंदीबेन से अनुमति मिलने के बाद संबंधित विभागों ने छात्र छात्राओं का आनंदीबेन के सामने ब्यौरा रखा उसके बाद कुलपति ने आनंदीबेन से अनुमति लेने के बाद मेडल और डिग्री देने की घोषणा की। दीक्षांत समारोह में उच्च शिक्षा मंत्री योगेंद्र उपाध्याय भी मौजूद रहे।

Related posts

मौलाना तौकीर की गिरफ्तारी हो : राजेश अग्रवाल 

newsvoxindia

भाजपा सरकार में कानून का पालन करने वाले कानून तोड़ रहे हैं- अताउर्रहमान ,

newsvoxindia

20 हज़ार की रिश्वत की रकम के साथ लेखपाल गिरफ्तार

newsvoxindia

Leave a Comment