News Vox India
राजनीतिशहर

पूर्व विधायक एवं पूर्व चेयरमैन ने कमिश्नर से की 17 साल पुरानी चोरी के खुलासे की मांग

 

मुजस्सिम खान 

रामपुर : समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान और उनकी जौहर यूनिवर्सिटी इस समय खासी चर्चा में है। इसका बड़ा कारण यूनिवर्सिटी परिसर मे चोरी की वस्तुओं की लगातार बरामदगी के सिलसिले से जुड़ा है। अब एक बार फिर यहीं पर डेढ़ दशक पुराने नगर पालिका की तिजोरी की चोरी करके यहीं पर दबाने की आशंका के मामले की जांच को लेकर पूर्व विधायक एवं पूर्व नगर पालिका चेयरमैन द्वारा अधिकारियों से लिखित शिकायत की गई है।

जनपद रामपुर में सपा के वरिष्ठ नेता आजम खान का सियासी रसूख किसी से छुपा नहीं है भले ही सत्ता परिवर्तन के बाद उनके द्वारा खामोशी अख्तियार कर ली जाती रही है लेकिन जब जब वह सत्ता में हुए हैं तो उनकी ताकत का नशा हमेशा ही विरोधियों के लिए किसी बुरे सपने से कम नहीं रहा है ऐसा ही एक मामला वर्ष 2005 से जुड़ा है इसी वर्ष रामपुर की शहर नगरपालिका परिषद की तिजोरी चोरी होने की प्रसिद्ध घटना घटी थी जिसमें पालिका कर्मियों की वेतन सहित 11 लाख 50 हजार रुपए की नकदी तक उड़ा ली गई थी और इसी आरोप में उस समय की आजम खान की धुर विरोधी माने जाने वाली पूर्व नगर पालिका चेयरमैन रेशमा अफरोज के अधिकारों को भी सीज़ कर दिया गया था कारण साफ था आजम खान को पूर्व विधायक अफरोज अली खान ने कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ कर करारी शिकस्त दी थी और रेशमा अफरोज नगर पालिका की चेयरमैन थी। तो वही आजम खान तत्कालीन मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव की कैबिनेट में नगर विकास मंत्री थे। इस महत्वपूर्ण घटना के बाद रामपुर की सियासत में भूचाल आ गया था और एक दूसरे पर आरोप लग रहे थे पूर्व पालिका चेयरमैन की ओर से तिजोरी और कारतूस चोरी के मामले में उसी दौरान अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था लेकिन यह मामला खुलासे के बजाय दबता चला गया लेकिन अब एक बार फिर से इसी घटना से जुड़ी चर्चाओं का दौर ऐसे वक्त में जारी है जब आजम खान पर चोरियों कराने के आरोप लग रहे हैं और चोरी की वस्तुओं का उनकी जोहर यूनिवर्सिटी में मिलने का सिलसिला जारी है।

पूर्व विधायक एवं कांग्रेस नेता अफरोज अली खान का सीधा आरोप है की उनकी पत्नी रेशमा भी के नगर पालिका में चेयरमैन रहने के दौरान एक तिजोरी एवं कारतूस चोरी की घटना को अंजाम दिया गया था लेकिन इसके बावजूद ही तिजोरी बरामद  नहीं हुई और ना ही उसमें रखा साढ़े 11 लाख रुपए की नकदी ही बरामद हुई । ऐसे में उन्हें आशंका है कि आजम खान द्वारा अपनी जौहर यूनिवर्सिटी मैं कहीं ना कहीं यह तिजोरी दबवाई गई होगी और इसी को लेकर उनके और उनकी पत्नी पूर्व नगरपालिका चेयरमैन रेशमा बी द्वारा इस मामले की शिकायत कमिश्नर मुरादाबाद से की गई है।
पूर्व चेयरमैन रेशमा अफरोज के मुताबिक 17 साल पहले नगर पालिका की सरकारी तिजोरी को चोरी कर लिया गया था और जिसमें कर्मियों की तनख्वाह सहित 11 लाख 50 हजार रुपए भी चुराए गए थे। इस घटना की रिपोर्ट उसी दौरान कोतवाली में दर्ज कराई गई थी। चोरी की इस चर्चित वारदात के वक्त आजम खान सत्ता पर काबिज थे और नगर विकास मंत्री थे यही वजह रही कि उनको और उनके पति पूर्व विधायक अफरोज अली खान को तरह-तरह की प्रताड़ना झेलनी पड़ी थी उनकी सुनने वाला कोई नहीं था लेकिन अब वक्त आ चुका है और कहीं ना कहीं इस बड़ी चोरी के तार आजम खान से जुड़े हो सकते हैं इसी को लेकर उनके द्वारा अपने पति अफरोज अली खान के साथ मिलकर घटना के खुलासे की मांग प्रार्थना पत्र के माध्यम से कमिश्नर मुरादाबाद से की गई है।

Related posts

प्रेमी से सात  फेरे के लिए महविश बनी महिमा , पुलिस से पति की सुरक्षा की लगाई गुहार ,

newsvoxindia

 छेड़खानी के आरोपी अध्यापक की पिटाई का वीडियो वायरल,

newsvoxindia

गदर 2 की हीरोइन सिमरत ने किया खुलासा , पहले से अनिल शर्मा को नहीं जानती थी,

newsvoxindia

Leave a Comment