News Vox India
नेशनलयूपी टॉप न्यूज़शहरस्पेशल स्टोरी

EXclusive: मोहम्मद रफी का बड़ा दीवाना , जो 40 साल से रिक्शे पर बैठकर सुनाता है रफी के तराने ,

मुमताज

Advertisement
,

बहेड़ी। यूं तो मशहूर गायक मोहम्मद रफी को दुनिया से अलविदा किए हुए 42 वर्ष हो चुके हैं लेकिन लोगों के दिलों में उनकी याद आज भी जिंदा है। लोग आज भी रफी के तराने काफी पसंद करते हैं और रफी के तराने गुनगुनाते हुए भी नजर आते हैं। यहां नगर में रफी के सैकड़ों चाहने वाले हैं लेकिन एनाउंसर हसनैन कुछ अलग अंदाज में हर साल रफी की बरसी मनाते हैं। मोहम्मद रफी की बरसी पर हसनैन नगर में रिक्शा घुमाकर नगरवासियों को रफी के तराने सनातें हैं। हसनैन की मोहम्मद रफी के लिए इतनी दीवानगी है कि वह पिछले40 सालो से लगातार 31 जुलाई को नगर में रिक्शा घुमाकर लोगों को मोहम्मद रफी के गाने सुनाते हैं।

 

हर साल की तरह इस साल भी नगर के मोहल्ला बाज़ार निवासी एनाउंसर मोहम्मद हसनैन ने मोहम्मद रफी की बरसी पर रिक्शे पर साउंड सिस्टम और मोहम्मद रफी की फोटो लगाकर लोगों को रफी के नगमे सुनाकर अपनी दीवानगी का एहसास कराया। रिक्शे पर साउंड सिस्टम लगाकर उन्होंने नगर में घूमकर लोगों को रफी के तराने सुनाए। हसनैन ने ’न फनकार तुझसा तेरे बाद आया, मोहम्मद रफी तू बहुत आया’, ’बड़ी दूर से आए हैं प्यार का तोहफा लाए हैं’, ’न तू जमीं के लिए न आसमां के लिए’, ’तुम मुझे यूं भुला न पाओगे’ जैसे रफी के दर्द भरे नगमे सुनाते हुए रफी की फोटो लगाए पूरे नगर में घूमे।

 

रफी के दीवाने उनके साउंड लगे रिक्शे के पास खड़े होकर बड़ी संजीदगी के साथ रफी के गाने सुनते हुए नजर आए। मोहम्मद रफी की आवाज के यूं तो बहुत दीवाने हैं और उन्हीं में से उनका एक दीवाना हसनैन है। हसनैन रफी की आवाज के इतने दीवाने हैं कि रफी की बरसी पर कामकाज बंद कर उनके गाने सुनाकर रफी की याद ताज़ा करते हैं। मोहम्मद रफी की 43वी बरसी पर भी उन्होंने पूरे नगर में घूमकर लोगों को मोहम्मद रफी के नगमे सुनाए जिससे 43 साल बाद भी लोगों के दिलों में रफी की याद ताजा हो गई।

Related posts

 गैंगस्टर एक्ट का वांछित 25 हजार का  इनामी बदमाश  गिरफ्तार ,

newsvoxindia

अरविंद केजरीवाल के लिए हो रहे  धरना प्रदर्शन से मुसलमान रहें दूर : मौलाना शहाबुद्दीन 

newsvoxindia

पंचांग देखकर जानिए कौन सा  समय नए काम के लिए  बेहतर  , 

newsvoxindia

Leave a Comment