News Vox India
यूपी टॉप न्यूज़शहरशिक्षास्पेशल स्टोरी

छात्र संघ के चुनाव चाहते बरेली कॉलेज के छात्र,

बरेली : बरेली कॉलेज के पढ़ने वाले तमाम ऐसे छात्र हुए है जिन्होंने बरेली कॉलेज से राजनीति के गुड़ सीखकर देश की राजनीती में अपनी छाप छोड़ी है। लेकिन सरकार ने लम्बे समय से छात्र संघ के चुनाव पर सूबे में पाबंदी लगा रखी है। इस बात से बरेली कॉलेज के छात्र में आज तक सरकार के प्रति बेहद नाराजगी है। कॉलेज के छात्र छात्राएं बताते है कि छात्र राजनीती से किसका नुकसान हो रहा है उन्हें समझ में नहीं आता।

Advertisement

 

 

आज बरेली कॉलेज में छात्र संघ भवन जर्जर हो रहा है। भवन में पेड़ पौधे उग रहे है। यहां का फर्नीचर दीमक का निवाला बन चुका है। ऐसे में कभी छात्र राजनीति से छात्र -छात्राओं के मुद्दे उठाये जाते थे ,आज वह भी मुद्दे भी कहीं कहीं ना कहीं छात्र राजनीति से जुड़े मुद्दे नहीं के कारण बेदम हो गए ।

 

 

पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष जवाहर लाल का कहना है कि छात्र संघ चुनाव राजनीति की नर्सरी है। सरकार को छात्रसंघ का चुनाव कराना चाहिए। उन्होंने भी कहा कि आज के समय में छात्र राजनीति ठन्डे बस्ते में जा चुकी है। हर बात के लिए शासन को दोष नहीं देना चाहिए। अब तो संघर्ष करने वाले छात्र ही नहीं दिख रहे है। सरकार से पहले भी अखिल विद्यार्थी परिषद पहले भी  छात्रसंघ चुनाव कराने की मांग कर चुकी है। इस बार भी शासन से चुनाव कराने की मांग की है। इस बात को लेकर सरकार गंभीर भी है उन्हें लगता है।

 

 

सपा के लिए छात्रसंघ की राजनीति करने वाले अनुज कुमार कहते है कि छात्रसंघ को अधिकतर सपा से जुड़े छात्र नेताओं ने जीते है। इस वजह से सरकार छात्रसंघ के चुनाव को बैन रखना चाहती है।  चुनाव नहीं होने का खामियाजा छात्र ही भुगत रहे है।  अब तो उनसे जुड़े मुद्दे ही उठ पा रहे है।  बरेली कॉलेज के प्राचार्य ओम प्रकाश राय ने बताया कि वह चाहते है कि कॉलेज में छात्रसंघ के चुनाव हो , लेकिन उसके लिए सरकार की अनुमति होना जरूरी है। अगर सरकार से उन्हें कोई निर्देश मिलेगा तो चुनाव कराने में उन्हें कोई दिक्कत नहीं है।

 

छात्र संघ बरेली कॉलेज के यह रहे अध्यक्ष
बरेली कॉलेज में अधिकृत तरीके वर्ष 2003 में छात्रसंघ  के चुनाव हुए थे , पहली बार वर्ष 2003 में अनुराग नीटू सिंह अध्यक्ष बने ,इसके बाद प्रशांत पटेल भी 2004 में छात्र संघ का चुनाव जीतकर अध्यक्ष बने। वर्ष 2005 में जितेंद्र कुमार यादव अध्यक्ष बने ,इसके बाद वर्ष 2006 में भूपेंद्र कुर्मी छात्रसंघ के अध्यक्ष बने। इसके बाद 2012 में छात्रसंघ के चुनाव हुए जिसमें जवाहर लाल को छात्रसंघ का अध्यक्ष चुना गया था।

Related posts

सेफ्टी टैंक की दीवार गिरने से दो बच्चों की मौत , घटना से गांव में मचा हड़कंप ,

newsvoxindia

प्रीति योग में आज मां लक्ष्मी की पूजा करेगी मंगल ऐसे करें आराधना ,जानिए क्या कहते हैं सितारे

newsvoxindia

 डेलापीर मंडी में सब्जियों  के थोक के यह है  भाव , देखें  यह सूची ,

newsvoxindia

Leave a Comment