News Vox India
यूपी टॉप न्यूज़शहरशिक्षास्पेशल स्टोरी

बाल संरक्षण अधिनियम सहित कई अन्य मुद्दों पर हुई कार्यशाला , आईजी ने कार्यक्रम की अध्यक्षता 

मयूर तलवार ,

Advertisement

बरेली।  रिजर्व पुलिस लाइन स्थित सभागार पुलिस महानिरीक्षक बरेली परिक्षेत्र बरेली डा0 राकेश सिंह की अध्यक्षता में बाल संरक्षण अधिनियम, पॉक्सो अधिनियम 2012, किशोर न्याय अधिनियम 2015, आइ०टी०एस०एस०ओ एंव चाइल्ड ट्रैक पोर्टल आदि के सम्बन्ध में एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला को सम्बोधित करते हुए संयुक्त निदेशक अभियोजन एवं शेष अभियोजन अधिकारी  के द्वारा पॉक्सो एक्ट की विवेचना करने के सम्बन्ध में जानकारी दी गयी। पुलिस अधीक्षक यातायात द्वारा पॉक्सो एक्ट, किशोर न्याय अधिनियम, आइ०टी०एस०एस०ओ, गुमशुदा बच्चों के सम्बन्ध में हर पहलू पर जानकारी दी गयी।

 

 

कार्यशाला में पीड़ित बच्चों के साथ हुए अपराध व लैंगिंक अपराध के सम्बन्ध में तत्काल अभियोग पंजीकृत करने, महिला उ०नि० द्वारा बयान दर्ज कराने, पीड़ित बच्चों को बाल कल्याण समिति के समक्ष प्रस्तुत कराने, 161 सीआरपीसी व 164 सीआरपीसी के बयान दर्ज कराने के विस्तार से जानकारी दी गयी। पीड़ित बच्चों के चिकित्सीय परीक्षण के सम्बन्ध में स्पष्ट तौर पर बताया गया कि सभी बच्चों का शैक्षिक प्रमाण पत्रों के आधार पर आयु निर्धारित की जाए, यदि शैक्षिक प्रमाण पत्र नगर पालिका व ग्राम पंचायत द्वारा जारी नहीं किया गया है तो बाल कल्याण समिति की अनुमति के उपरांत ही चिकित्सीय परीक्षण कराया जाये।

 

इसके अलावा किशोर न्याय अधिनियम के अंतर्गत, देखभाल एवं संरक्षण की आवश्यकता वाले बालक, विधि का उल्लंघन करने वाले किशोरों के संबंध में विधिक प्रक्रिया की पूरी जानकारी दी गयी। आइ०टी०एस०एसओ के अनुसार लैगिंक अपराधो की विवेचना दो माह के भीतर निस्तारण करने के निर्देश दिये गये। आईजी डा0 राकेश सिंह ने  संबोधित करते हुए कहा कि बच्चें हमारे भविष्य है इनके साथ किसी भी प्रकार का अपराध नही होना चाहिये । बच्चों के साथ होने वाले अपराधों में तत्काल एफआईआर दर्ज कराते हुए चिकित्सीय परीक्षण कराकर महिला उ०नि० के स्तर के अधिकारी से बयान दर्ज कराकर विवेचना दो माह के अन्दर निस्तारित करानी चाहिये। गुमशुदा बच्चों के सम्बन्ध में लापरवाही बिल्कुल भी न बरती जाये, उन्हें शीघ्र बरामद कराकर उनके परिजनों को सौंपा जाना चाहिये। गुमशुदा बच्चों के परिजनों को किसी भी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े। किसी भी विधिक कार्यवाही में उनकी सहमति व उनको साथ लेकर ही कार्यवाही की जाये आदि के निर्देश दिए गये।

 

कार्यशाला में सभी थानों में तैनात महिला निरीक्षक व  उ0निरीक्षक, थानों में तैनात बाल कल्याण पुलिस अधिकारी, क्षेत्राधिकारी कार्यालय में तैनात बाल कल्याण से अपराध मुंशी, प्रभारी एस० जे०पी०यू०/ए०एच०टी०यू० / डब्लू०सी०एस०ओ, चाइल्ड हेल्प लाइन के अध्यक्ष व सदस्य, वन स्टाप सेंटर, बाल कल्याण समिति बरेली के सदस्य, जिला प्रोबेशन अधिकारी, डिवीजन रिसोर्स पर्सन यूनिसेफ आदि मौजूद रहा ।

Related posts

पशु प्रेमियों से मछुआरे से कछुए की जान बचाकर गर्रा नदी में छोड़ा ,

newsvoxindia

खबर कॉम्पैक्ट :अवैध तमंचों के साथ दो युवक गिरफ्तार,

newsvoxindia

Astrological prediction for August 20, 2022 -आज मनोबल को बढ़ाएगा में उच्च का चंद्रमा और शनिदेव की पूजा जानिए, क्या कहते हैं सितारे,

newsvoxindia

Leave a Comment