News Vox India
धर्मशहरस्पेशल स्टोरी

पंच कल्याणकारी योगों में फुलेरा दूज आज 

 

 

पंडित मुकेश मिश्रा,

बरेली। फाल्गुन शुक्ल पक्ष द्वितीय तिथि में मनाया जाने वाला फूल महोत्सव यानी फुलेरा दूज का पर्व इस बार पांच शुभ संयोग लेकर के आया है। फुलेरा दूज का संबंध भगवान श्री कृष्ण और राधा रानी के साथ होली से भी जुड़ा है फुलेरा दूज के अवसर पर भगवान श्री कृष्ण और राधा रानी की पूजा की जाती है इस दिन से भगवान श्री कृष्ण के मंदिरों में होली की तैयारियां शुरू हो जाती हैं।
ऐसी मान्यता है कि इस दिन राधा कृष्ण की पूजा करने से सभी तरह की मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं। फूलेरा दूज पर ब्रज की समस्त गोपियों ने राधा-कृष्ण के प्रेम की खुशी में फूल बरसाए थे, इस कारण से इस त्योहार का महत्व होता है। ऐसा माना जाता है कि इस दिन भगवान श्रीकृष्ण ने होली खेलने की परंपरा की शुरूआत की थी। फुलेरा दूज पर घरों को फूलों और रंगोली से सजाया जाता है। साथ ही फुलेरा दूज पर कृष्णजी को पकवान का भोग लगाया जाता है। भगवान श्रीकृष्ण के लिए विशेष प्रकार का पकवान तैयार किया जाता है।

 

अबूझ मुहूर्त है फुलेरा दूज
फूलेरा दूज शुभ दिनों में से एक होता है। यह दिन दोष रहित होता है और किसी प्रकार से हानिकारक नहीं होता है. पूरे दिन “अबूझ मुहूर्त” होने के कारण इस दिन लोग नए कार्य प्रारंभ करते हैं, विवाह भी किए जाते हैं। इस ​दिन शुभ या मांगलिक कार्यों को करने के लिए मुहूर्त देखने की आवश्यकता नहीं पड़ती है।

 

*यह रहेंगे पांच शुभ संयोग*
फुलेरा दूज पर पांच महासुख लोगों का संगम रहेगा जिसमें शिव योग,सिद्ध योग,
साध्य योग,सर्वार्थ सिद्धि योग,त्रिपुष्कर योग व्याप्त रहेंगे ज्योतिष शास्त्र में यह पांचों योग अत्यंत मंगलकारी माने गए हैं इन लोगों का पन्ना अपने आप में अनूठा संयोग है।

Related posts

Aaj ka rashifal :आज गुरुदेव की राशि मीन में चन्द्रमा खोलेगा किस्मत का ताला ,जानिए क्या कहते हैं सितारे

newsvoxindia

बी.कॉम कंप्यूटर विभाग की ओर से छात्र छात्राओं को वितरण किया गए झंडे,

newsvoxindia

Bareilly news:नाजायज चाकू के साथ एक अभियुक्त गिरफ्तार

newsvoxindia

Leave a Comment