News Vox India
खेती किसानीयूपी टॉप न्यूज़शहर

किसान भाइयों के लिए बड़ी खबर : 80 प्रतिशत सब्सिडी पर किसानों को कृषि उपकरण मुहैया करा रही सरकार,

 

खबर सोर्स : सूचना विभाग

बरेली।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की किसानों की आय दोगुनी करने की दिशा में फार्म मशीनरी बैंक योजना कारगर साबित हो रही है। कृषि विभाग किसानों को 80 प्रतिशत सब्सिडी पर कृषि उपकरण मुहैया करवा रहा है। आधुनिक कृषि उपकरणों से उन्नत खेती कर किसान अपनी आय को दोगुना कर सकते हैं। उप कृषि निदेशक बरेली ने बताया कि बरेली पीलीभीत शाहजहांपुर और बदायूं में आज से सबमिशन ऑन एग्रीकल्चर योजना के अंतर्गत कृषि यंत्रों रोटावेटर कस्टम हायरिंग सेंटर, ट्रैक्टर ऑपरेटर हार्वेस्टर, कंबाइन, हार्वेस्टर समेत कृषि उपकरणों पर सब्सिडी के लिए बुकिंग शुरू होगी। विभागीय पोर्टल यूपी एग्रीकल्चर डॉट कॉम पर किसान रजिस्ट्रेशन करवाकर यंत्रों के लिए अनुदान के लिए आवेदन कर सकते हैं। विभागीय पोर्टल पर ऑनलाइन पंजीकरण कर योजना का लाभ लिया जा सकता है।

*आम किसानों तक पहुंचेगी कम दामों में महंगी, उन्नत तकनीक*

फार्म मशीनरी बैंक योजना किसानो के लिए कारगर साबित हो रही है। खेती में उपयोग होने वाले तकनीकी यंत्रों को प्रत्येक आम किसान तक पहुंचाने के लिए सरकार द्वारा कृषि यंत्रीकरण योजना व इन-सीटू (यंत्रीकरण) योजना के तहत कृषि यंत्रों की खरीद पर किसानों को 80 प्रतिशत का अनुदान दिया जा रहा है। महंगे कृषि यंत्र होने के कारण ज्यादातर किसान खरीद नहीं कर पा रहे थे। लेकिन अब किसान फार्म मशीनरी बैंक खोल कर कृषि यंत्र की खरीदारी कर रहे हैं। इस योजना से किसान ट्रैक्टर, लेजर लेब्रल, मल्चर, पैड़ी स्ट्राचापर, सिड्रिल, हाइड्रोलिक रिवर्सेबुल एम बी प्याऊ, राटेरी एक्स थ्रेसर, जीरो टिल सीड व ड्रिल मशीन आदि यंत्रों की खरीददारी कर सरकार के अनुदान का लाभ उठा रहे हैं।

*योजना का लाभ ले चुके किसान कर रहे हैं उन्नत खेती*
कृषि यंत्रीकरण योजना से लाभान्वित हो चुके किसानों ने बताया कि विभाग द्वारा हम लोगों को ट्रैक्टर, लेजर लेब्रल, मल्चर, पैड़ी स्ट्राचापर, सिड्रिल की खरीद पर 80 प्रतिशत अनुदान मिल रहा है़। इस यन्त्रों से हम सभी कों खेती करने में आसानी हो गयी है़। जिससे गांव के किसान भाईयों की आमदनी भी बढ़ रही है़। किसान समूहों को योजना का लाभ दिया गया है़। इसमें फर्म मशीनरी बैंक एनआरएलएम समूह, एफपीओ सहित सहकारी समितियां भी शामिल हैं।

*जानिए किसानों को क्या है लाभ*
इस योजना में 15 लाख के प्रोजेक्ट में 80 प्रतिशत का अनुदान दिया जा रहा है़। किसानों का कहना इस योजना से हमे कई तरह के फायदे अगर हम कोई भी कृषि यंत्र खरीदते हैं। उसमें हमे ज्यादा रुपये देने की जरूरत नहीं पड़ेगी और जो गरीब किसान है उन्हें ये यन्त्र किराये पर भी मिल जाएंगे और किराया भी कम पड़ेगा। इससे हम सब अच्छी खेती भी कर सकेंगे और समय पर सारे काम कर सकते हैं।

Related posts

किसान यूनियन ढकिया डैम बनवाने की  मांग को लेकर दिया ज्ञापन 

newsvoxindia

उप मुख्यमंत्री बृजेश पाठक ने क्षय रोगियों को बांटी आहार किट,

newsvoxindia

बालिकाओं को आत्मनिर्भर बनाए 

newsvoxindia

Leave a Comment