News Vox India
यूपी टॉप न्यूज़राजनीतिशहरस्पेशल स्टोरी

अनोखा प्रदर्शन : शहर के सड़कों पर शहीदों को दर्जा दिलाने के लिए मुहिम पर मुज्जफरनगर का बेटा ,जानिए पूरा मामला

बरेली। शहर की सड़कों पर मुजफ्फरनगर का एक गबरू जवान क्रांतिकारी की गेटअप में दिखाई दे रहा है। उसका शरीर जंजीर से जकड़ा हुआ , एक बंदी की तरह उसके शरीर पर हाफ पैंट, और पीट पर देश के तमाम शहीदों के नाम अंकित है। एक हाथ मे तिरंगा और जनुनु बस इतना भगतसिंह, राजगुरु ,सुखदेव को सरकार से शहीदों का दर्जा दिलवाने का है।

Advertisement

 

राहगीर उसे रुक रुककर देखते है। जब मामला समझ मे आता है तो लोग उसकी भावनाओं को दात देकर जय हिन्द के नारे के साथ आगे बढ़ जाते है और दुआ भी दे जाते है कि जिस मकसद से आप अपने घर से निकले हो वह आपकी इच्छा पूरी हो।

 

 

मुज्जफरनगर के शामली का रहने वाला युवक बरेली पहुंचा तो उसने अपनी मांगों के समर्थन में एसडीएम बरेली को ज्ञापन दिया। ज्ञापन से युवक विजय हिंदुस्तानी ने मांग की राजगुरु , भगतसिंह,सुखदेव को शहीद का दर्ज दिया जाए। प्रदर्शनकारी विजय हिंदुस्तानी ने बताया कि आजादी के लंबे समय बाद भी भगतसिंह , राजगुरु ,सुखदेव को देश की सरकारों ने शहीद का दर्जा नहीं दिया।

 

 

 

वह सवाल पूछने के लहजे में पूछते है कि भगतसिंह ,राजगुरु , सुखदेव देश के लिए नहीं लड़ते तो क्या देश को आजादी मिल जाती। विजय ने बताया कि वह पिछले कुछ समय मे 24 जिलों के डीएम को अपनी मांग के समर्थन में ज्ञापन दे चुका है। वह लखनऊ में जाकर भी वह अपनी मांगों के समर्थन में भी ज्ञापन देंगे।

https://newsvoxindia.com/career/praveen-singh-aren-neeraj-maurya-make-their-claim-on-the-seats-by-nomination/

बरेली में डीएम चुनाव व्यवस्था में लगे होने की वजह से उनकी जगह एसडीएम बरेली ने ज्ञापन लिया। वह खुद यह बताता है कि उसने मीडिया की पढ़ाई के बाद वकालत की ओर कदम रखा है उसकी मुहिम तब तक जारी रहेगी जब भगतसिंह, राजगुरु , सुखदेव को सरकार शहीद का दर्जा नहीं दे देती है।

Related posts

कमल मुरझाने के लिए मैदान में उतरे पूर्व मेयर आईएस तोमर,

newsvoxindia

Breaking : बरेली: तुलसी स्थल मंदिर के महंत कमल नयन दास का आकस्मिक निधन,

newsvoxindia

खाकी पर दाग : इंस्पेक्टर क्राइम पर दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज , आईजी के आदेश पर पुलिस आई हरकत में ,

newsvoxindia

Leave a Comment