News Vox India
यूपी टॉप न्यूज़राजनीतिशहर

वैश्विक मानचित्र पर यूपी की पहचान बनी है अब यहां दंगे नहीं होते :सीएम योगी

बरेली। निकाय चुनाव के चार ही दिन बचे है ऐसे में सत्ताधारी पार्टी अपने चुनाव प्रचार में किसी तरह कोई कमी नहीं रखना चाहती है। आज मुख्यमंत्री सीएम योगी ने बरेली मंडल में खुद प्रचार की कमान संभाल ली।
मुख्यमंत्री योगी ने मेरा पद के प्रत्याशी उमेश गौतम के समर्थन में जनसभा करके वोट मांगे। सीएम योगी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि वह बरेली की नाथ नगरी को नमन करते है।

Advertisement

 

बरेली में 2012 – 2017 के बीच जो नगर थे। जिस्में सबसे ज्यादा बार कर्फ्यू लगा था, उनमें बरेली का नाम भी आता था। हर 6 महीने में बरेली में कर्फ्यू लगता था। दंगा और उपद्रव उत्तर प्रदेश की पहचान बन गए थे। लेकिन पिछले 6 वर्ष में कोई भी दंगा उत्तर प्रदेश में नहीं हुआ। और उपद्रव मुक्त हुआ है दंगों से भी मुक्त हुआ है।कावड़ यात्रा उत्तर प्रदेश भर में पहचान बनाता है। वैश्विक मानचित्र पर उत्तर प्रदेश की पहचान बनी है। जैसे देश बदल चुका है, दुनिया के अंदर जहां भी कुछ संकट दिखाई देता है। वहां भारत की ओर देखते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की तरफ देखते हैं। भारत वैश्विक लीडर की तरफ बढ़ रहा है। यह 9 वर्ष पहले अपनी पहचान के लिए मोहताज था। उन्होंने यह भी कहा कि 2017 से पहले युवाओं के हाथ में तमंचे पकड़े जाते थे केवल जातिवाद और परिवार वाद  ही नहीं था अवसरवादी भी से यह अराजकतावादी भी रहे और यह तमंचा वादी भी थे युवाओं का जीवन बर्बाद करते थे और व्यापारियों से अवैध वसूली किया करते थे।

सीएम योगी ने यह भी कहा कि  2017 के बाद अपराधी सीधा सीना तान का नहीं चल सकता गले में लटका कर जान की भीख मांगते हुए नजर आते हैं।योगी ने अपने सम्बोधन में यह भी कहा कि पिछले 9 सालों के अंदर प्रधानमंत्री ने नागरिकों की धारणा बदली है। भारत की अपनी आंतरिक स्थिति भी बदली है। भारत दुनिया दुनिया में सबसे आगे है कोई कल्पना नहीं कर सकता ।चार करोड़ लोगों को देश में गरीबों को 1- 1 आवास मुफ्त मिल जाये। 15 करोड़ युवाओं के लिए स्किल डेवलपमेंट इंडिया के माध्यम से लाभ मिला है।

 

कोरोना कॉल में 80 करोड़ गरीबों को राशन का लाभ मिला, जो आज भी मिल रहा है।अयोध्या में राम मंदिर का काम बहुत तेजी से चल रहा है। इसी वर्ष भव्य मंदिर का निर्माण होगा। 2017 से पहले यूपी में दंगे होते थे। जाति के नाम पर समाज को बांट दिया जाता था। बेटियां डर के मारे स्कूल नहीं जाती थी। व्यापारी रंगदारी देते थे। महिलाएं बाजार नहीं जाती थी। अराजकता चरम पर थी।

उमेश गौतम ने अपने लिए वोट मांगते हुए कहा कि पिछले 17 सालों में नगर निगम में विपक्ष बैठा हुआ था। तब यहां की सभी गली अंधेरे में हुआ करती थी।पहले बरेली महानगर नहीं हुआ करती थी बल्कि एक नगर हुआ करता था। अब यहाँ की सभी रोड़ों को 4 लेन और 6 लेन कर दिया गया हैं। भाजपा हर वर्ग के लिए काम करती है। कोरोना काल मे भी दो साल तक भाजपा नेताओं ने की जबकि विपक्ष के नेता घर  में दुबक गये थे।

Related posts

सोने के मुकाबले चांदी हुई मजबूत , यह है आज के भाव। 

newsvoxindia

बरेली में सड़क सुरक्षा सप्ताह में बनी 35 किलोमीटर लंबी मानव श्रखंला, लोगो में दिखा जबर्दस्त उत्साह,

newsvoxindia

सिरौली पुलिस ने वारंटी को किया गिरफ्तार

newsvoxindia

Leave a Comment