News Vox India
बाजारयूपी टॉप न्यूज़शहर

साबुन व्यापारी दीपक गांधी  की मौत के मामले में दो महिला मित्रों के साथ चार अन्य गिरफ्तार , यह था पूरा मामला 

 

  • पोस्टमार्टम की रिपोर्ट में हत्या का नहीं हुआ था खुलासा ,
  • पुलिस ने सीडीआर की मदद से घटना का किया खुलासा ,
बरेली : प्रेमनगर थाना क्षेत्र के साबुन व्यापारी  दीपक गांधी की मौत की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है।  पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए महिला व्यापारी की दो महिलाओं सहित चार अन्य लोगों को गिरफ्तार किया है , जिसमें तीन नाबालिग है।  पुलिस के मुताबिक व्यापारी की मौत अचानक तबियत ख़राब होने के चलते हुई थी। तब अभियुक्तों ने व्यापारी को किसी डॉक्टर या फिर परिवार को किसी सूचना नहीं देने के आधार पर गिरफ्तार किया है।  पुलिस ने अभियुक्तों के खिलाफ आईपीसी की धारा 304 ,201 ,120 बी के तहत कार्रवाई की है।
पुलिस के मुताबिक  18 सितम्बर  शाम 7  बजे जनकपुरी थाना प्रेमनगर  के रहने वाले साबुन व्यवसायी दीपक गांधी अपनी कार मारुति एसएक्स 4 संख्या UP16W3938 से अपने घर से आवश्यक कार्य बताकर निकले थे। देर रात्रि तक घर न लौटने पर उनके परिजनों द्वारा दिनांक 19 सितम्बर की मध्य रात्रि में थाना प्रेमनगर में गुमशुदगी दर्ज कराई  थी । पुलिस टीमों  ने तमाम खोजबीन के बाद   बन्नूवाल नगर चिक्कर स्कूल के पास कार के मौजूद होने की बात प्रकाश में आयी। जिसे चेक किया गया तो मृतक का शव पिछली सीट पर लेटी अवस्था में मौजूद पाया गया। इस मामले में पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर अपनी जांच शुरू की थी।
 पुलिस ने घटनास्थल व आस-पास के  के सीसीटीवी फुटेज व अन्य वैज्ञानिक साक्ष्य संकलित करते हुए अभियुक्तों को  गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की । पुलिस पूछताछ में पता चला कि  मृतक दीपक गांधी अपनी महिला मित्र सपना व काजल से मिलने राजीव इन्कलेव स्थित उनके आवास पर गए थे, जहां अचानक दीपक गांधी की तबियत खराब होने व अचेत हो जाने पर सपना द्वारा योजना बनाकर काजल शर्मा, अपने पति हितेश सक्सेना व अपने दो पुत्रों एवं उनके मित्र को कार चलाने के लिए बुलाकर रात्रि में ही व्यापारी को उनकी गाड़ी की पिछली सीट पर डालकर बन्नूवाल नगर चिक्कर स्कूल के पास गाड़ी छोड़कर वहां से भाग गये।
पुलिस ने घटना में शामिल  हितेश सक्सेना, सपना सक्सेना, काजल शर्मा को आज  आईवीआरआई पुल के पास  से गिरफ्तार कर लिया।  अभियुक्तों को  नियमानुसार विधिक कार्यवाही करते हुए मा0 न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया जा रहा है। साथ ही नियमानुसार बाल अपचारियोंको मा0 न्यायालय के समक्ष (जे0जे0 बोर्ड) प्रस्तुत किया जा रहा है।
एसपी क्राइम एमपी सिंह ने  घटना का खुलासा करते हुए बताया कि  18 -19 सितम्बर की रात को दीपक गांधी के परिजनों ने उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। तभी से पुलिस की टीमें उनकी तलाश में लगी हुई थी।  इसी दौरान पुलिस को इज्जतनगर थाना क्षेत्र के  बन्नूवाल नगर चिक्कर स्कूल के पास दीपक गांधी का शव उनकी कार की पिछली सीट पर मिला था। दीपक गांधी 18 सितम्बर को अपनी महिला मित्र से मिलने उनके घर गए थे जहां उनकी तबियत ख़राब हो गई। इसके बाद सपना सक्सेना ,काजल सक्सेना , और सपना का पति हितेश अन्य तीन किशोरों की मदद से कार में छोड़कर भाग गए थे।  पुलिस ने घटना सम्बन्ध में दो महिलाओं के साथ एक महिला के पति और तीन नाबालिगों को गिरफ्तार किया है।

Related posts

महिला ने बहू- बेटे को चल – अचल संपत्ति से किया बेदखल

newsvoxindia

रेनू अग्रवाल सहित नलिन श्रीवास्तव बने प्रयागराज हाईकोर्ट के न्यायाधीश, 

newsvoxindia

पशु प्रेमियों से मछुआरे से कछुए की जान बचाकर गर्रा नदी में छोड़ा ,

newsvoxindia

Leave a Comment