News Vox India
यूपी टॉप न्यूज़राजनीतिशहर

निकाय चुनाव विशेष : सपा मेयर प्रत्याशी का नाम लिफाफे में बंद , संजीव हो सकते है मेयर प्रत्याशी,

 

बरेली। सपा का मेयर प्रत्याशी कौन होगा यह अगले चार पांच दिन में तय हो जाएगा। इसके संबंध में आज एक निजी होटल में सपा की एक गोपनीय मीटिंग हुई , जिसमें दमदार प्रत्यशियों के नाम पर चर्चा हुई बाद में एक नाम को करीब करीब तय कर लिया गया। इसके बाद
निकाय चुनाव प्रभारी ने एक नाम को बंद लिफाफे में राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के पास भेजने का मन मना लिया। सूत्रों के मुताबिक मेयर के पद के लिए संजीव सक्सेना , मनोहर पटेल, पूर्व मेयर आईएस तोमर , पार्षद राजेश अग्रवाल सहित पूर्व जिला अध्यक्षों के नाम पर चर्चा के साथ अन्य के4 नामों पर बात हुई । लेकिन सबसे आगे संजीव सक्सेना का नाम रहा।

Advertisement

 

 

 

सूत्रों के मुताबिक सुप्रिया ऐरन ने मेयर का चुनाव लड़ने में कोई खास रुचि नहीं दिखाई, हालांकि आईएस तोमर ने अभी तक मेयर के चुनाव लड़ने के लिए आवेदन नहीं किया है पर यह जरूर कहा कि अगर पार्टी ने उन्हें चुनाव लड़ाएगी तो जरूर वह चुनाव जरूर लड़ेंगे।बैठक के बाद समाजवादी पार्टी के नगर निकाय चुनाव प्रभारी बृजेश यादव (विधायक बदायूं ) ने नगर निगम एवं नगर पालिका, नगर पंचायत चुनाव को लेकर मुख्य बिंदुओं पर एक प्रेस वार्ता की जिसमे उन्होंने पत्रकार बंधुओ के सवाल के जवाब देते हुए कहा की सपा जाति धर्म देखकर मेयर का टिकट नहीं देगी जो जीतता हुआ प्रत्याशी होगा उसी को टिकट देकर जिताने का काम किया जायेगा ।

 

 

 

ब्रजेश यादव ने यह भी कहा कि भाजपा का चाल चरित्र चेहरा जनता के सामने बेनकाब हो चुका है, जहां जनता महगाई की मार से त्राहिमाम त्राहिमाम कर रही है ।वही भाजपा नेता सत्ता के नशे मे चूर होकर झूठ का प्रचार कर रहे है और जनता की गाड़ी कमाई को प्रचार में लुटा रहे है, इसलिये जनता इस बार भाजपा को हार की सलामी देगी । प्रेस वार्ता में निर्वतमान ज़िला अध्यक्ष शिवचरन कश्यप,महानगर अध्यक्ष शमीम खां सुल्तानी,पूर्व सांसद वीरपाल सिंह यादव, प्रवीण सिंह एरन,विधायक अताउर रहमान,विधायक शहजील इस्लाम,पूर्व विधायक महिपाल सिंह यादव,भगवत सरन गंगवार, सुल्तान बेग,पूर्व विधायक आर के शर्मा पूर्व विधायक विजय पाल सिंह, अगम मौर्य ,सुप्रिया एरन,डॉक्टर आई एस तोमर,शुभलेश यादव, कदीर अहमद, ज़फ़र बेग,हैदर अली आदि मौजूद रहे।

 

सपा कायस्थ उम्मीदवार बनाकर ले सकती है चुनावी बढ़त

निकाय चुनाव के ठीक कुछ ही महीने बाद लोकसभा चुनाव है। अगर सपा निकाय चुनाव में किसी कायस्थ उम्मीदवार को अपना उम्मीदवार बनाती है तो निश्चित सपा को इससे काफी फायदा हो सकता है क्योंकि एक बड़ी आबादी का हिस्सा कायस्थ समाज का है। यदि मुस्लिम और दलित के साथ ब्राह्मण समाज का सपा  को समर्थन मिलता है तो यह आंकड़े सपा के संघर्ष को जीत में बदलने का मादा भी रखते है।

 

Related posts

बदायूं : कैदी के शव की आँखे गायब होने से मचा हड़कंप , अधिकारी मामले की जाँच में जुटे ,

newsvoxindia

बड़ी खबर :राजभर NDA में हुए शामिल , बोले वंचितों एवं शोषितों के हक के लिए भाजपा -सुभासपा एक साथ आये,

newsvoxindia

आज मां भगवती को लगाए अनार का भोग और खिलाए मछलियों को आटे की गोलियां ,जानिए क्या कहते हैं सितारे,

newsvoxindia

Leave a Comment