News Vox India
नेशनलयूपी टॉप न्यूज़शहर

Drishyam- 2 की रिलीज से पहले गाजियाबाद में दृश्यम जैसी घटना आई सामने , 4 साल पुराने हत्याकांड का खुलासा , 

गाजियाबाद: क्राइम ब्रांच गाजियाबाद एवं थाना नन्दग्राम पुलिस द्वारा चार वर्षों से लापता चल रहे चन्द्रवीर उर्फ पप्पू की हत्या का खुलासा कर दिया । घटना के सम्बन्ध में चन्द्रवीर की पत्नी को उसके प्रेमी सहित गिरफ्तार किया गया है ।  05 अक्टूबर को थाना सिहानी गेट पर भूरे सिंह निवासी सिकरोड़ थाना नन्दग्राम द्वारा अपने भाई चंद्रवीर सिंह उर्फ पप्पू (46) पुत्र श्री महेन्द्र सिंह  के 28 सितम्बर की शाम 05:00 बजे से लापता होने के सम्बन्ध में सूचना दी।  लापता चन्द्रवीर सिंह उर्फ पप्पू को बरामद करने के लिए विवेचक ने काफी प्रयास किया परन्तु लापता चन्द्रवीर उर्फ पप्पू का कोई पता नहीं चला। जिस पर पुलिस द्वारा सुरागरसी जारी रखते हुए जांच समाप्त कर दी गयी थी।
  लेकिन क्राइम ब्रांच ने हार नहीं मानी उसे घटना के सम्बन्ध में महत्वपूर्ण तथ्य एकत्रित किये और उन पर गहनता से अपनी जाँच शुरू की । जिसमें क्राइम ब्रान्च जनपद गाजियाबाद व थाना नन्दग्राम की संयुक्त कार्यवाही में उपरोक्त 04 वर्षों से लापता चन्द्रवीर उर्फ पप्पू की सनसनीखेज हत्या का राजफास करते हुए घटना का ख़ुलासा किया।  घटना में शामिल चन्द्रवीर उर्फ पप्पू की पत्नी व उसके प्रेमी को गिरफ्तार किया। जिनकी निशादेही पर मृतक चन्द्रवीर के शव को अभियुक्त अरुण उर्फ अनिल के मकान के अन्दर 06 फुट गढ्ढा खोदने के बाद बरामद किया ।
एस पी क्राइम दीक्षा शर्मा ने कहा की आरोपियों ने पूछताछ में बताया – आरोपी अरूण उर्फ अनिल व मृतक की पत्नी सविता ने बताया कि हम दोनों आपस में वर्ष 2017 से प्रेम करते थे। जिस बात की जानकारी धीरे-धीरे मृतक चन्द्रवीर उर्फ पप्पू व परिवार वालों को हो गयी थी। कई बार मृतक ने हमें आपत्तिजनक स्थिति में देखा था और मना किया किन्तु फिर भी हम छुपते-छुपाते आपस में एक-दूसरे से मिलते रहते थे। इसी बात को लेकर मृतक सविता को मारता-पीटता भी था। जब हमें लगा कि अब हमारे अवैध सम्बन्ध अब नहीं चल पायेंगे तो हम दोनों ने मिलकर प्लान बनाया कि चन्द्रवीर उर्फ पप्पू को ही रास्ते से हटा दिया जाए, जिससे हमें कोई रुकावट न रहे। इसी प्लान के तहत अरूण ने पहले से ही लगभग 06 फिट का गड्ढा अपने मकान के बरामदे में खोद रखा था कि जैसे ही मौका मिलेगा, चन्द्रवीर उर्फ पप्पू को मारकर इस गड्ढे में दफना देंगे और किसी को पता भी नहीं चलेगा।
28 सितम्बर की रात्रि में चन्द्रवीर उर्फ पप्पू जो अकसर शराब पीने का आदि था, शराब पीकर अपने घर आया और सो गया तो रात्रि में सविता ने अरूण को बुला लिया अरूण ने तमंचे से चारपाई पर लेटे हुए चन्द्रवीर के सिर में गोली मार दी जिससे उसकी मृत्यु हो गयी और चारपाई के नीचे सर की जगह पर एक प्लास्टिक की बाल्टी रख दी, जिसमें मृतक का खून गिरने लगा, जब खून गिरना बंद हुआ, तो अरूण, चन्द्रवीर की लाश को सविता की मदद से अपने घर में पहले से खोदे गये गड्ढे के पास ले गया। चन्द्रवीर उर्फ पप्पू ने अपने दाहिने हाथ में स्टील का कड़ा पहन रखा था जिसे निकालने का प्रयास किया किन्तु नहीं निकल पाया तो अरुण ने अपने घर में रखी कुल्हाड़ी से चन्द्रवीर का कलाई से ऊपर दाहिना हाथ काट दिया तथा शव को गड्ढे में डालकर ऊपर से मिट्टी डालकर दबा दिया और उसके ऊपर खड़ंजा बिछा दिया।
घटना में इस्तेमाल हुआ भी तमंचा सविता के मकान में एक कमरा जो खंडहर पड़ा हुआ था उसमें ईट की रोडी के नीचे दबाकर रख दिया था। कुछ दिन बाद उस जगह पर दोबारा भराव करके वहां पक्का फर्श बना दिया था ।। जिससे कि इस जघन्य हत्या का राज कभी न खुल सके। घटना के बाद सविता ने प्रयास किया कि पप्पू के गायब होने में उसके भाई भूरा पर आरोप लगाये और फसाये इस शिकायत को लेकर बार-बार पुलिस व गांव के सम्मानित लोगों से भी इस बात की शिकायत करती थी। जिससे कि कोई उसके ऊपर किसी प्रकार का शक न करें।

Related posts

सूर्य ग्रहण का सभी 12 राशियों पर यह रहेगा असर,

newsvoxindia

निकाय चुनाव के मद्देनजर डीएम ने अधिकारियों के साथ की बैठक 

newsvoxindia

फिटनेस एडिक्शन के खिलाड़ियों ने नार्थ  मिस्टर इंडिया बॉडी बिल्डिंग में मनवाया अपना लोहा 

newsvoxindia

Leave a Comment