News Vox India
धर्मशहरशिक्षा

केवट की चली नाव, निषादराज ने किया राम का स्वागत,

 

बरेली। आज की रामलीला मंचन में गुरु व्यास मुनेश्वर जी ने लीला से पूर्व वर्णन किया कि श्रीं रामजी अयोध्या से सबकी आज्ञा लेकर निकलते हैं राजा दशरथ की आज्ञानुसार श्रीराम लक्ष्मण सीता जी को आर्य सुमंत के साथ रथ में सबसे पहले तमसा नदी पहुंचे, जो अयोध्या से 20 किमी दूर है। इसके बाद उन्होंने गोमती नदी पार की और प्रयागराज से 22 किलोमीटर दूर वे श्रृंगवेरपुर पहुंचे, जो निषादराज गुह का राज्य था। वहां निषादराज ने उनका स्वागत किया।

Advertisement

 

 

निषादराज गुह मछुआरों और नाविकों के राजा थे। वनवास के दौरान श्रीराम ने अपनी पहली रात उन्हीं के यहां बिताई। श्रृंगवेरपुर में इंगुदी -हिंगोटद्ध का वृक्ष हैं जहां बैठकर प्रभु ने निषादराज गुह से भेंट की थी वे रामजी के बाल सखा थे दोनों ने एक ही गुरुकुल में रहकर शिक्षा प्राप्त की। यहीं पर गंगा के तट पर उन्होंने केवट से रामजी को गंगा पार कराने को कहा था। पर केवट सकुचाते हुए कहते है कि

मागी नाव न केवटु आना।
कहइ तुम्हार मरमु मैं जाना॥
चरन कमल रज कहुं सबु कहई।
मानुष करनि मूरि कछु अहई॥

 

 

इस लीला के मंचन के दौरान नाव के साथ यात्रा निकाली गयी, जो नरसिंह मंदिर से चलकर मलूकपुर चौराहा सौदागारन होकर सीता राम कूँचा से गुज़री जहां कन्नौज इत्र वालों ने उसका भव्य स्वागत किया, रास्ते में जगह जगह रामभक्तो ने पुष्प वर्षा कर भव्य स्वागत किया, उसके बाद नाव यात्रा का साहूकारे की तुलसी गली में केवट संबाद की लीला का मंचन हुआ। *प्रवक्ता विशाल मेहरोत्रा ने बताया कि कल लीला में दशरथ मरण और चित्रकूट में भरत मिलाप की लीला का मंचन होगा* आज रामलीला में मुख्य अतिथि श्रीं राम मोहन सिंह पुलिस अधीक्षक यातायात रहे तथा विशिष्ट अतिथि बीजेपी महानगर अध्यक्ष श्री कुलमोहन अरोड़ा और गणमान्य अतिथि के रूप में विगत राम बारात में ढाल की तरह चलने वाले बिहारीपुर चौकी इंचार्ज श्री जितेंद्र कुमार सिंह रहे जिन्होंने आरती कर भगवान राम की लीला का शुभारंभ किया।

 

 

अध्यक्ष सर्वेश रस्तोगी ने सभी पदाधिकारियों के साथ अतिथियों का स्वागत किया व आभार व्यक्त किया। साहूकारे की व्यवस्था महामंत्री व पार्षद राजू मिश्रा जी ने संभाली। अन्य रामभक्तों में अंशु सक्सेना, पंकज मिश्रा, राजू मिश्रा, राजकुमार गुप्ता, लवलीन कपूर, नवीन शर्मा, विवेक शर्मा, गौरव सक्सेना, पंडित सुरेश कटिहा, सत्येंद्र पांडेय, महिवाल रस्तोगी, नीरज रस्तोगी, पंडित विनोद शर्मा, अनमोल रस्तोगी, सुनील रस्तोगी, अजीत रस्तोगी, शिवम रस्तोगी, बंटी रस्तोगी, अनिल कुमार सैनी, सुरेश रस्तोगी, आशीष रस्तोगी, शिवम रस्तोगी,विनोद टण्डन, कौशिक टण्डन , सचिन श्याम भारतीय आदि मौजूद रहे।

Related posts

बरेली की डेलापीर सब्जी मंडी में यह है सब्जियों के दाम ,

newsvoxindia

सात तारीख का चुनाव भाजपा को सात समंदर दूर फेंक देगा- अखिलेश यादव

newsvoxindia

साहब मैं जिन्दा हूँ अधिकारियों ने मुझे जिंदा ही मार डाला , 

newsvoxindia

Leave a Comment