News Vox India
राजनीति

जानिए बहेड़ी विधायक छत्रपाल का मंत्री बनने तक का सफर

अब्दुल वाजिद 

बहेड़ी से  भाजपा विधायक छत्रपाल यूपी सरकार की कैबिनेट में शामिल हो गए है |  मिली जानकारी के अनुसार छत्रपाल हाईकमान से संकेत मिलने के बाद लखनऊ पहले ही रवाना हो गए थे | माना यह भी जा रहा है कि विधायक छत्रपाल के मंत्री बनने से भाजपा की  कुर्मी वोट पर पकड़ और मजबूत होगी और वही  पूर्व केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार के अच्छे  विकल्प के रूप में  साबित हो सकते है  | छत्रपाल अभी तक क्षेत्र से दो बार विधायक बन चुके है उन्होंने अपने जीवन की शुरुआत एक शिक्षक के रूप में शुरू की थी | विधायक  छत्रपाल की किसानों में भी अच्छी पकड़ मानी भी जाती है | वह अबतक दो बार विधायक बने है उन्होंने पहली बार वर्ष 2007 में सपा के अताउर रहमान को हराया था बाद में 2017 के विधानसभा चुनाव में बसपा उम्मीदवार नसीम अहमद को हराया था | 

मंत्रिमंडल विस्तार में यह लोग हुए शामिल 

जितिन शहाजहांपुर से (ब्राह्मण General)संगीता बिंद ग़ाज़ीपुर से (मल्लाह OBC)धर्मवीर प्रजापति आगरा से (कुम्हार OBC)पलटूराम बलरामपुर से (SC)छत्रपाल गंगवार बरेली से (कुर्मी OBC)दिनेश खटिक मेरठ से (दलित SC)संजय गौड़ सोनभद्र से (ST)

 गंगवार वोट बरेली के 4 विधानसभाओं को करता है प्रभावित 

बरेली मंडल में बात की जाये तो सबसे ज्यादा बरेली जिले की पांच विधानसभाओं को   गंगवार वोट वोट प्रभावित करता है | राजनैतिक जानकारों के मुताबिक गंगवार वोट सबसे ज्यादा नवाबगंज  विधानसभा के साथ बहेड़ी , मीरगंज,  भोजीपुरा   में है | यहां के वोटर काफी हद तक जीत तय करने में अहम भूमिका अदा करते है | शहर और कैंट विधानसभा में भी अच्छी तादात में गंगवार मतदाता है | यह मतदाता जिले के गंगवार बाहुल्य क्षेत्र से आकर बसे  हुए है | हालाँकि  बदायूं मे गंगवार  मतदाता  कम संख्या में है , पीलीभीत में भी गंगवार वोट भी अच्छी संख्या में है वही रामपुर – शाहजहांपुर में भी गंगवार वोट है | कानपुर लखीमपुर बेल्ट और पूर्वांचल में भी गंगवार वोटर है जो अलग सरनेम से जाने जाते है | 

विधायक छत्रपाल का जीवन परिचय 

नाम : छत्रपाल सिंह गंगवार

पिता : श्री राम लाल

पता : ग्राम व पोस्ट दमखोदा ,तहसील बहेड़ी जिला वरेली

शिक्षा : एम.ए. (अर्थशास्त्र), बी.एड.

संघ शिक्षा वर्ग : प्रथम वर्ष 1981

द्वितीय वर्ष 1983

तृतीय वर्ष 1984

कार्यक्षेत्र : प्रवक्ता अर्थशास्त्र वर्ष 1979-2009 तक प्रधानाचार्य वर्ष 2009 से धनीराम ईण्टर कॉलेज, 

दमखोदा, तहसील बहेड़ी सीतापुर में राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ के जिला प्रचारक (वर्ष 1985 से वर्ष 1987 ) 

2002 में 118 बहेड़ी विधानसभा से भाजपा के प्रत्याशी रहे,

विभाग शारीरिक प्रमुख (वर्ष 1993 ) मंत्री, 

जनशिक्षा परिषद बरेली ( वर्ष 1997 ),

राजनैतिक पृस्ठभूमि :

2002 में बहेड़ी से भाजपा प्रत्याशी रहे 

2007 -2012 में पुनः भाजपा से विधानसभा चुनाव लडे और विधायक बने 

2012 में पुन भाजपा से चुनाव लड़े और 18 वोटो के अंतर से हार गए 

2017 में भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़े 43,800 मतो से विजयी रहे

Related posts

यूपी कांग्रेस यात्रा का बरेली पहुंचने पर जोरदार स्वागत , बड़ी संख्या में कांग्रेसी रहे मौजूद

newsvoxindia

स्वार विधानसभा उपचुनाव में आजम का दिखा नया रूप, बातों बातों में कांग्रेस के साथ भाजपा को लिया निशाने पर ,

newsvoxindia

Rampur News : आजमगढ़ -रामपुर जीतने के बाद कायम हो जाएगा रामराज : डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य

newsvoxindia

Leave a Comment