News Vox India
नेशनलशहरस्पेशल स्टोरी

सीरियल किलर या रंजिशन हत्या, अभी तक शाही थाना क्षेत्र में हुई कई हत्याओं का बरेली पुलिस नहीं कर सकी खुलासा,

बरेली। शाही थाना क्षेत्र में लगातार कुछ कुछ अंतराल पर हुई 9 महिलाओं की हत्याओं का बरेली पुलिस अभी तक खुलासा नहीं कर सकी है।यही स्थिति बरेली के शीश गढ़ थाना क्षेत्र का है यहां भी दो महिलाओं की हत्याओं को अंजाम दिया गया है। इन सभी हत्याओं से क्षेत्र में दहशत का माहौल भी और पुलिस के प्रति नाराजगी भी है। हालांकि बरेली पुलिस लगातार खुलासे की कोशिश में है। इस कोशिश में पुलिस ने मृतकों के कुछ करीबी भी पुलिस के निशाने पर रहे ।

Advertisement

 

 

इसके बाबजूद पुलिस कुल मिलाकर तीन महिलाओं की हत्या का खुलासा कर सकी है। इन सभी केसों में यह समानता है कि कातिल ने उन महिलाओं को अपने निशाने पर लिया है। जहां महिलाओं की उम्र 40 से 60 साल के बीच की है। इसके अलावा एक समानता यह भी है कि मरने वाली सभी महिलाओं को गला घोंटकर मारा गया और सभी के शव उल्टे पड़े मिले है। इन सभी मरने वाली 50 से 60 किलोमीटर दायरे की रहने वाली है। इसके अलावा मीरगंज और फतेहगंज थाना क्षेत्र में एक एक महिला की हत्या हुई है। जिनका खुलासा होना बाकी है।

 

केस नंबर 1 । शाही के परतापुर में 5 मई को कलावती की हत्या का मामला सामने आया था। इस केस में कला देवी के परिवार ने मुकदमा दर्ज नहीं कराया था। हालांकि पोस्टमार्टम में गला दबाकर हत्या करने की बात सामने आई थी। मृतिका के पति ने बताया कि उन्हें पहले यह लगा कि उनके पत्नी की हार्टअटैक के चलते मौत हुई है । बाद में जैसे जैसे ही क्षेत्र में हत्याओं के मामले सामने आए तो उसके बाद उन्हें लगने लगा कि उनकी पत्नी की हत्या हुई है। उन्होंने बताया कि उनके घर मामले के पूछताछ के लिए जिले के कई अधिकारी आये थे।

दूसरा केस । शाही थाना क्षेत्र के आनंदपुर में 29 जून को महिला प्रेमवती की हत्या कर दी गई थी । इस केस में भी महिला की हत्या गला घोंटकर हत्या कर दी गई थी। और उसका शव भी जमीन पर उल्टा पड़ा मिला था। प्रेमवती (55)के परिजनों का कहना है कि प्रेमवती का भट्टे वालों से जमीन की खुदाई को लेकर विवाद चल रहा था , पर पुलिस ने मामले के खुलासे में जल्दी दिखाते हुए मृतिका के बेटे को पकड़ लिया और अपने हिसाब से उसे ट्रीटमेंट दिया , बाद में पुलिस ने पूछताछ के बाद उसे छोड़ दिया। वही परिजन रामनरेश का यह भी आरोप है कि उनका साफतौर पर यह कहना है कि उनकी मां की हत्या भट्टे मालिक ने कराई है। उन्हें इस संबंध में धमकी भी मिल रही है उनका पीछा करने के साथ फोन पर धमकी भी दी जा रही है।

 

 

केस नंबर 3

शाही थाना क्षेत्र के सेवा ज्वालापुर में 23 अगस्त को वीरवती की हत्या कर दी गई थी। इस हत्या का बरेली पुलिस ने खुलासा करते हुए वीरवती के कातिल मिश्री लाल को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है। मृतिका के पति ने बताया कि उनकी पत्नी की हत्या का खुलासा सही किया है। उन्हें यह मामला सीरियल किलर से जुड़ा नहीं लगता । वही वीरवती के पति का यह कहना जरूर है कि उनके केस में यह जरूर हुआ कि हत्या के वक्त उनकी पत्नी ने जो सोने चांदी के आभूषण पहने हुई थी । वह पुलिस ने बरामद कर नहीं दिए।

 

केस नंबर 4

मीरगंज थाना के गांव गुला में दलित महिला रेशमा देवी की हत्या कर दी गई थी। रेशमा का भी शव उल्टा और नदी के पास जमीन पर पड़ा मिला था। मृतिका के बेटे ने बताया कि उसकी मां मीरगंज के लिए ऑटो से निकली थी फिर उसका शव हत्या के दो दिन वाद नदी के किनारे सड़ी गली हालत में मिला था। पर उन्हें उम्मीद कम है कि उन्हें न्याय मिल पायेगा।

 

 

केस नंबर 5

शीशगढ़ थाना क्षेत्र के लखीमपुर गांव में 60 वर्षीय महमूदन की हत्या कर दी गई थी। और उसका भी शव गांव से कुछ दूरी पर मिला था पर उसके साथ किसी भी तरह की लूटपाट नहीं हुई थी। परिजनों के मुताबिक
महमूदन का शव उल्टा और जमीन पर पड़ा मिला था। हालांकि पुलिस अभी तक इस हत्या का भी खुलासा नहीं कर सकी है। पुलिस ने हत्यारे की तलाश और सबूत जुटाने के लिए ड्रोन भी उड़ाया पर पुलिस के हाथ अभी भी खाली है।

 

केस नंबर 6

शीशगढ़ थाना क्षेत्र के गांव लखीमपुर से कुछ किलोमीटर की दूरी पर जगदीशपुर में महिला उर्मिला गंगवार की हत्या कर दी गई थी । इसके बाद क्षेत्र में हड़कंप गया था। बाद में घटनास्थल के निरीक्षण के एसएसपी , एडीजी , आईजी सहित पुलिस के कई आलाधिकारी पहुंचे थे। इस केस में भी महिला का शव जमीन पर उल्टा पड़ा मिला था कुल मिलाकर इस केस में भी पुलिस के हाथ अभी भी खाली है।

 

 

केस नंबर 7

फतेहगंज पश्चिमी थाना क्षेत्र के थानपुर गांव निवासी रेलवे के रिटायर्ड कर्मचारी मिहीलाल की 65 वर्षीय पत्नी ओमवती घास लेने के लिए खेत की गई थी। ओमवती का शव 9 नवंबर को जंगल से बरामद हुआ था। इस मामले में भी अब तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई हैं।

 

 

केस नंबर 8 : शाही थाना क्षेत्र के गांव खेऊ गंटिया निवासी भीमवती का 19 नवंबर को अधजला शव बरामद मिला था। पुलिस ने मामले का खुलासा कर आरोपी पति नैपाल सिंह को जेल भेज दिया था।

केस नंबर 9

शाही थाना के गांव खैरसैनी निवासी दुलारो देवी महिला का 20 नवंबर को गांव विक्रमपुर के गन्ने के खेत में महिला का शव मिलने था। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिए भेजा था।

 

 

केस नंबर 10
शाही थाना क्षेत्र के गांव खेऊ गंटिया निवासी भीमवती का 19 नवंबर को अधजला शव मिला था।पुलिस ने महिला के पति नैपाल सिंह को गिरफ्तार करके मामले का खुलासा किया था।

 

केस नंबर 11:

शाही थाना क्षेत्र के गांव खैरसैनी की दुलारो देवी का 20 नवंबर को गांव विक्रमपुर के जंगल के पास गन्ने के खेत में महिला का शव मिला था। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिए भेजा था।

 

 

क्या सीरियल किलर घटना को दे रहा है अंजाम !

बरेली के शीशगढ़ , शाही , मीरगंज थाना क्षेत्र में हुई महिलाओं की हत्याओं के बाद लोग यह कहने लगे कि कोई सीरियल किलर इन घटनाओं को अंजाम दे रहा है। हालांकि इन हत्याओं को करने के तरीके से इस बात पर हल्का बल मिल रहा है। वही दूसरी इस थ्योरी पर भी क्षेत्र में चर्चा है कि कोई मानसिक रोगी इस क्षेत्र में घटना को अंजाम दे रहा है , या फिर वह व्यक्ति इस तरह की घटनाओं को अंजाम दे रहा है जिसके परिवार में इस तरह की घटना को अंजाम दिया हो । तीसरी चर्चा इस बात पर भी है कि हत्यारे निजी रंजिशों को चलते इस तरह की घटनाओं को अंजाम दे रहे और उस तरीके को अपना रहे है जो कि पूर्व में हत्या में हुआ है।

 

 

Related posts

अयोध्या आंदोलन में रहे सक्रिय कारसेवकों का ब्राह्मण समाज करेगा सम्मानित।

newsvoxindia

बिहार के प्रोफेसर ने लौटाया 33 महीने का वेतन 24 लाख,

newsvoxindia

Today rashifal 9 May 2022: शिव की पूजा करने से होगी सभी मनोवांछित इच्छाओं की पूर्ति ,जानिए आज कैसा रहेगा आपका दिन,

newsvoxindia

Leave a Comment