News Vox India
नेशनल

बरेली की कबूतरबाजी और उससे जुड़े विवाद में हत्या से जुड़ा केस, पढ़े यह मामला,

यूपी का बरेली जिला पूरे भारतवर्ष में सुर्मा , मांझा , कबूतरबाजी के लिए प्रसिद्ध है। इसकी एक वजह यह भी है कि यह क्षेत्र नवाबों के कब्जे में रहा । नवाबों के शौक में एक शौक उनका कबूतरबाजी रहा। शहर के कई हिस्सों में कबूतरबाजी आज भी होती है लोग अपने कबूतरों को पहलवान जैसी डाइट देते है। उनके खाने में बादाम , और अन्य ड्राई फ्रूट दो देते है उनके सेहत का भी ध्यान रखते है। यह शौक उस समय लोगों में मुसीबत बन जाता है जब उनके कबूतर कहीं गायब हो जाते हैं। ऐसा ही बरेली के बाकर गंज में कबूतर से जुड़ा मामला सामने आया जहां एक कबूतरबाज पड़ोसी पर आरोप है कि उसने  अपने कबूतर की चोरी के शक में पड़ोस में रहने व्यक्ति को पीटा जिससे उसकी मौत हो गई।

Advertisement

 

 

जाने क्या है आरोप मृतक के बेटे का

किला क्षेत्र के मोहल्ला बाकर गंज मठिया के पास रहने वाले 50 बर्षीय मुजम्मिल पुत्र अच्छन की पड़ोसियों ने कबूतर को लेकर घर में घुसकर मारपीट की, जिसमें मुजम्मिल और उसका बेटा मुजीब , बेटी याशीमन के चोट आई थी । मुजम्मिल के ज्यादा चोट होने के कारण जिला अस्पताल में भर्ती कराया उसके बाद मुजम्मिल की मौत हो गई थी।

 

 

मृतक  के बेटे के मुताबिक रविवार 1 अक्टूबर को पड़ोस के रहने वाले कुछ लोगों  ने उसके पिता मुजम्मिल पर यह आरोप लगाया था कि उसका कबूतर तुम्हारे पास है। तब उसके पिता मुजम्मिल ने कहा था कि उनके पास कबूतर नहीं है आकर देख लो । इतनी बात पर उसके पड़ोसियों ने गालियां देना शुरू कर दी। जब मुजम्मिल ने गालियों का विरोध किया तभी  आठ लोग घर में घुस गए और लात घुसो से ईंटों से हमला कर दिया जिसमें उसके पिता मुजम्मिल सहित तीन लोग घायल हो गए।

 

 

 

जिला अस्पताल से लाने के बाद मुजम्मिल की हुई मौत

परिजनों के मुताबिक मुजम्मिल के गंभीर चोट आने के कारण उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया मुजम्मिल कोमा में चले गए। डॉक्टर ने शुक्रवार को जवाब दे दिया इनको घर ले जाओ परिवार वाले। घर ले आये। शनिवार की शाम को मुजम्मिल की मौत हो गई।

 

परिवार की शिकायत पर मुजम्मिल का हुआ पोस्टमार्टम

परिवार वालों ने थाना किला पुलिस को सूचना दी। इसके बाद सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम को भेजा । इसके बाद पोस्टमार्टम की कार्रवाई हुई , जिसमें मुजम्मिल की रिपोर्ट में जहर आने की पुष्टि की खबर हैं । फिलहाल पुलिस मामले पर अभी भी कार्रवाई जारी है। हालांकि यह कबूतरों से जुड़ा मामला चर्चा जरूर बटोर रहा हैं।वही चौकी प्रभारी सतवीर सिंह पुंडीर ने मीडिया को बताया है कि 5 अक्टूबर को कबूतर के चलते विवाद दूसरे लोगो से हुआ था । मुजम्मिल की पीएम रिपोर्ट में जहर के संकेत मिले है।

Related posts

क्वाड लीडर्स समिट में यूक्रेन और रूस के बीच जारी युद्ध पर चर्चा

newsvoxindia

छठ पर्व पर जगह -जगह आयोजन  , 

newsvoxindia

माननीयों की सुरक्षा में तैनात सिपाही घर पर फरमा रहे थे आराम , एसपी ने 26 पुलिसकर्मियों को किया सस्पेंड, 

newsvoxindia

Leave a Comment