News Vox India

हार्टअटैक पड़ने से किसान की हुई मौत , नहीं पहुंचा प्रशासन का कोई अधिकारी

बरेली | फतेहगंज पश्चिमी में रविवार को मूसलाधार बारिश से धान की फसल और बोरो में भरे धान भीग जाने और ख़राब होने की आशंका   पर गाँब रसूला चौधरी के किसान गंगाराम दिवाकर  की दिल का दौड़ा पड़ने से खेत पर ही मौत हो गयी। प्रधान लालता प्रसाद की सूचना पर दो दिन के बाद भी लेखपाल किसान के घर नही पहुँचे जिससे परिजनों समेत ग्रामीणों में रोष व्याप्त है।

गाँब रसूला चौधरी निवासी 47 बर्षीय गंगाराम दिवाकर अपनी और बटाई पर खेती करके ही परिवार चलाते थे। दस बर्ष पहले उनके शादी शुदा बड़े बेटे झम्मन लाल का निधन हो गया था। जिसके कारण वह हार्ट के मरीज हो गए थे।लेकिन   पिछले काफी दिन से दवा चलने के कारण  स्वस्थ्य थे। उनके दूसरे बेटे नरेश पाल के मुताबिक उनके पास करीब दो एकड़ से अधिक धान की फसल थी।पकने पर उन्होंने बगैर किसी मजदूर के स्वयं धान की फसल काटी थी। करीब चार बीघा फसल झाड़ने के बाद धान बोरो में भी भर लिये थे। लेकिन रविवार को दोपहर के बाद अचानक मूसलाधार बारिश शुरू होने से बोरो में भरे धान बारिश में भींग गए।साथ ही बाकी धान की फसल कटी पढ़ी थी। वह भी जल मग्न हो गयी। जिसको गंगाराम बर्दास्त नही कर पाने के कारण उन्हें अचानक दिल का दौड़ा पड़ गया। जिससे उनकी पांच मिनट में ही खेत पर ही मौत हो गयी। अब तो कोहराम मच गया।ग्रामीणों के सहयोग से परिजन उन्हें घर ले गए। प्रधान लालता प्रसाद ने लेखपाल को सूचना दी। जिस पर दो दिन के बाद भी वह गाँब नही पहुँचे है।जिससे परिजनों और ग्रामीणों में रोष व्याप्त है।

Leave a Comment