News Vox India

मंत्री का पीएस बनकर अधिकारियों को फर्जी कॉल करने वाला गिरफ्तार

*सॉफ्टवेयर की मदद से आवाज बदलकर अधिकारियों को करता था कॉल

Advertisement

*मंत्री का पीएस बनकर एसएसपी को की थी कॉल

बरेली। इज्जतनगर पुलिस ने  मंत्री का फर्जी पीएस बनकर अधिकारियों को कॉल करने वाला व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी के पास एक कार , दो मोबाइल फोन, चार फर्जी सिम बरामद किए है। जानकारी के मुताबिक आरोपी ने एक मामले में एसएसपी बरेली को कॉल करके दबाव बनाने की कोशिश की थी, लेकिन एसएसपी ने कॉल करने वाले व्यक्ति को संदिग्ध मानते हुए जांच के आदेश दिए थे । 

बरेली पुलिस के मुताबिक आरोपी 
नीरेश वर्मा पुत्र चन्द्रपाल नि० ग्राम अंबियापुर धाना बिल्सी जनपद बदायूं को आज पीलीभीत बाईपास बजरंग ढाबा के पास  से  सुबह 8  बजे एक  मुखबिर की सूचना पर गिरफ्तार किया गया  है। आरोपी के  कब्जे से फेक आईडी के चार सिम व घटना में प्रयुक्त मोबाइल बरामद किये गये है । 

पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने बताया कि  वह एम0ए0, बी०एड०, पी०एच०डी० तक पढ़ा है। उसने वर्ष 2008 से राधेलाल इण्टर कालेज कस्बा कछला जनपद बदायूं में वरिष्ठ लिपिक (अर्धसरकारी) के पद पर नौकरी कर रहा है । वही वर्ष 2021 की उत्तर प्रदेश उच्च शिक्षा आयोग की भर्ती में मेरा चयन प्रवक्ता समाजशास्त्र के पद पर हो गया है।  हालांकि अभी उसे  नियुक्ति नहीं मिली है। इसके अलावा मेरी राजनीति में भी विशेष रुचि है। उसका बड़े-बड़े नेताओं से मिलना जुलना रहता है।

इसी दौरान उसे आईडिया आया कि वह  सिफारिस करके लोगों से पैसा कमा सकता है। उसने  करीब 06 माह पहले उसने  04 फर्जी सिम व एक आवाज बदलने वाला मोबाइल खरीद लिया। तब बरेली के जानने वाले लोटन सिंह के विवादित प्लाट पर दूसरे लोगों का निर्माण कार्य रुकवाने के लिए उसने  20 लाख रुपये ले लिए। लेकिन वह  उसका पूरा काम नहीं करा पाया तो उसने 10 लाख रुपये वापस कर दिये और 10 लाख रुपये के बदले में फोन से फर्जी सिम के द्वारा अलग अलग आवाज फोन के साफ्टवेयर से बदल कर कभी  मंत्री तो कभी पर्सनल सेकेट्री बनकर चौकी इंचार्ज ब्रिजेश कुमार , थाना इज्जतनगर के SHO व अन्य अधिकारियों को फोन करने लगा कि लोटन सिंह की जमीन पर जो लोग काम कर रहे है उसको फोरन रुकवा दे । उसने चौकी इंचार्ज ब्रिजेश कुमार को ट्रांसफर करवाने की धमकी दी और कहा कि  अगर काम नहीं किया तो ट्रांसफर करवा देगा और इस संबंध  में उसने ऊपर के अधिकारियों से  शिकायत भी की थी।

Leave a Comment