News Vox India
खेती किसानीबाजारशहर

बरेली मंडल में खाद की किल्लत दूर, बुवाई में जुटे किसान

 

 
 कालाबाजारी और जमाखोरी रोकने के लिए बरेली मंडल में गठित हुई टास्क फोर्स,
Advertisement

 

 

खबर सोर्स :  सूचना विभाग बरेली 

बरेली।शरद कालीन गन्ना और गेहूं की बुवाई में जुटे किसानों के लिए राहत भरी खबर है। बरेली मंडल में डीएपी, एनपीके, यूरिया समेत सभी उर्वरकों की किल्लत दूर हो गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर बरेली में अब तक 78458 एमटी डीएपी पहुंच चुकी है। इसके अलावा जमाखोरी और कालाबाजारी रोकने के लिए मंडल स्तर पर टास्क फोर्स का गठन किया गया है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर मंडलायुक्त संयुक्ता समद्दार ने संयुक्त कृषि निदेशक को टीमें गठित कर उर्वरक की दुकानों का स्टॉक चेक कर जांच करने के निर्देश दिए हैं। इसको लेकर पूरे मंडल में कवायद शुरू हो गई है।  अगले 24 घंटे में सभी सहकारी समितियों और खाद की दुकानों पर किसानों को खाद उपलब्ध कराई जाएगी। सभी जिलों में कालाबाजारी जमाखोरी और ओवर रेटिंग रोकने के लिए सघन चेकिंग करने वाली टीम में निकल पड़ी है।

 

 

 

कृषि विभाग के अधिकारियों और अपर ज़िलाधिकारीगण को सौंपी जांच की जिम्मेदारी

बरेली मंडल में ओवर रेटिंग के लिए टास्क फोर्स का गठन किया गया है । इसको लेकर सभी अपर ज़िलाधिकारी, संयुक्त कृषि निदेशक राजेश कुमार समेत जिलेभर में अलग-अलग जिला कृषि अधिकारी, जिला कृषि रक्षा अधिकारी एआर कोऑपरेटिव समेत अधिकारियों की टीमें बनाई गई हैं। उन्हें निर्देश दिए गए हैं कि देहात की सभी उर्वरक की दुकानों की चेकिंग करें। उनके स्टॉक का सत्यापन करें किसानों से बात कर ओवर रेटिंग के बारे में जानकारी करें। किसान साधन सहकारी समितियों पर किसानों को मिलने वाले उर्वरक की भी जानकारी लें। किसानों को बगैर किसी दिक्कत के खाद मुहैया कराई जाए। जिससे आसानी से रवि फसलों की बुवाई कर सकें।

 

 

मंडल के 12 लाख किसानों ने खरीदा उर्वरक

मंडल में किसान सम्मान निधि के लिए 1775339 किसानों ने रजिस्ट्रेशन कराया था। कृषि विभाग के आंकड़ों के मुताबिक अब तक करीब 12 लाख किसान किसान साधन सहकारी समितियों व अन्य खाद की दुकानों से उर्वरक ले चुके हैं। गठित की गई टास्क फोर्स कमेटी के सदस्य इन किसानों से भी फीडबैक लेंगे। उन्हें ओवर रेटिंग या कालाबाजारी का सामना तो नहीं करना पड़ा। इस मामले में उनकी रिपोर्ट आने के बाद कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ सीधे कार्रवाई की जाएगी।

खबर सोर्स :  सूचना विभाग बरेली 

 

 100 फीसदी से ज्यादा उपलब्ध है बरेली मंडल में डीएपी

बरेली मंडल में डीएपी की उपलब्धता 103 प्रतिशत है। जबकि पोटाश की उपलब्धता 112 प्रतिशत है। यूरिया की उपलब्धता 1.37 प्रतिशत है। कमिश्नर बरेली मंडल संयुक्ता समद्दार ने सभी जिला कृषि अधिकारियों, कृषि रक्षा अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वह दुकानों की चेकिंग करें। जहां गड़बड़ी मिले। उनके खिलाफ फौरन कार्रवाई करें। सोमवार से अगले तीन दिन तक सभी अधिकारियों को अभियान चलाकर जांच कर कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।

Related posts

बहेड़ी में हजरत मौलाशाह मियां का 110 वें 3 रोजा उर्स का आगाज

newsvoxindia

भाजपा लोकसभा चुनाव संचालन समिति की बैठक हुई आयोजित 

newsvoxindia

आजम खान के भड़काऊ भाषण के मामले में 27 अक्टूबर को आ सकता है अदालत का फैसला 

newsvoxindia

Leave a Comment