News Vox India
शहरस्वास्थ्य

जानलेवा बीमारियों से बचाएगा टीका, 7 अगस्त से शुरू होगा मिशन इंद्रधनुष 5.0,

 

बरेली। सघन मिशन इंद्रधनुष 5.0 जिसके अंतर्गत नियमित टीकाकरण जिसमें 0 से 5 साल के बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं को लेकर कार्यक्रम 3 चरणों में चलाया जाएगा। पहले चरण का शुभारंभ 7 अगस्त से किया जाएगा। यह जानकारी शुक्रवार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ बलवीर सिंह ने सीएमओ कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में दी। पत्रकार वार्ता में मिशन इंद्रधनुष 5.0 का वीडियो और नया लोगो लांच किया गया।

Advertisement

 

 

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ बलवीर सिंह ने बताया कि प्रत्येक बुधवार और शनिवार को विभाग के द्वारा निशुल्क टीकाकरण का कार्यक्रम चलाया जाता है लेकिन किन्ही कारणों से कई बच्चे व गर्भवती महिला टीकाकरण से छूट जाती हैं। इसी को लेकर सघन मिशन इंद्रधनुष 7 से 12 अगस्त, 11 से 16 सितंबर और 9 से 14 अक्टूबर के मध्य चलाया जाएगा। आशा कार्यकर्ता के द्वारा जुलाई में घर-घर जाकर सर्वे किया गया है। उसी आधार पर टीकाकरण से छूटे हुए बच्चों और गर्भवती महिलाओं की जानकारी ई कवच पोर्टल पर अपलोड हो चुकी है।

 

 

 

अब 7 अगस्त से एएनएम टीकाकरण सत्र लगाकर छूटे हुए बच्चों का टीकाकरण करेंगी। उन्होंने बताया कि जनपद में प्रतिरोध वाले 1983 परिवार थे। जिनमें से 1067 परिवारों ने बच्चों को लगवा लिया है। बाकी परिवारों को टीके का महत्व समझाने के लिए मुख्य विकास अधिकारी जग प्रवेश ने प्रशासनिक अधिकारियों और सप्लाई इंस्पेक्टरों को स्वास्थ्य विभाग को सहयोग करने के निर्देश दिए हैं।

 

 

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ प्रशांत ने बताया कि इस अभियान में 8310 गर्भवती महिलाओं को टीकाकरण करके गंभीर बीमारियों से सुरक्षित किया जाएगा। वहीं 0 से 1 वर्ष तक की 10759 बच्चों को टीका लगाया जाएगा। एक से दो वर्ष के 6208 एवं 2 से 5 साल तक की 7787 बच्चों को टीकाकरण से आच्छादित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि नवजात शिशुओं और बच्चों में होने वाली जानलेवा बीमारियों पोलियो, खसरा, रूबेला, रोटा वायरस, डिप्थीरिया, टेटनस, काली खांसी आदि से बचाने के लिए संपूर्ण टीकाकरण बेहद जरूरी है। उन्होंने बताया कि इंद्रधनुष के सात रंगों को प्रदर्शित करने वाले इस मिशन का उद्देश्य है कि सभी बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण करना है। यदि बच्चों का टीकाकरण समय से किया जाए तो बच्चे जीवन भर स्वस्थ और खुशहाल रहेंगे।

 

 

सघन मिशन इंद्रधनुष अभियान में दो तरह के बच्चों को शामिल किया गया था। पहला लेफ्टआउट जिन बच्चों को एक भी टीका नहीं लगा है व दूसरा ड्राप आउट, इसमें ऐसे बच्चे शामिल किए गए जिन्होंने एक या दो टीके लगवाने के बाद बीच में अन्य टीके नहीं लगवाए। उन्होंने बताया कि इंद्रधनुष के सात रंगों को प्रदर्शित करने वाले इस मिशन का उद्देश्य है कि सभी बच्चों का टीकाकरण करना है जिन्हें टीके नहीं लगे हैं।

 

पत्रकार वार्ता में डब्ल्यूएचओ के एसएमओ डॉ पीवी कौशिक, यूनिसेफ से डीऍमसी नुरूल निशा, आर.सी. आरिफ़ हसन, यूऐनडीपी से धर्मेंद्र चौहान, चाई से मनीष अग्रवाल , फ़ैजन अली, तथा जेएसआई से रजनी त्यागी व अन्य उपस्थित रहे ।

Related posts

सगे भाई की हत्या करने वाले भाई -भतीजों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज,

newsvoxindia

भाजपा  का ध्यान गरीब , वंचित किसानों पर नहीं है : जिलाध्यक्ष अशफाक सकलैनी

newsvoxindia

सोना के साथ  चांदी के दामों में हुई बढ़ोत्तरी ,यह है  आज के भाव ,

newsvoxindia

Leave a Comment