News Vox India
शहर

छह दिन पूर्व हुई संरक्षित पशुओं की हत्या का खुलासा तीन गिरफ्तार दो फरार

पिपरिया रामदयाल में मिले थे तीन संरक्षित पशुओं के अवशेष

Advertisement

भोजीपुरा। पुलिस ने छह दिन पूर्व गांव पिपरिया के जंगल हुई संरक्षित पशुओं की हत्या का खुलासा करते हुए तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है।जब कि दो आरोपी मौके का फायदा उठाकर फरार हो गए। जानकारी के अनुसार भोजीपुरा थाना क्षेत्र के गांव पिपरिया रामदयाल के जंगल में 28 मई को तीन संरक्षित पशुओं के अवशेष मिले थे। पुलिस ने अज्ञात मांस तस्करों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की थी। रविवार की रात दो बजे पुलिस ने मुखबिर की सूचना के आधार पर गांव बैकुंठापुर से जंगल में जाने वाली नहर के पास‌‌ मांस तस्कर जंगली संरक्षित पशुओं की हत्या की फिराक में बैठे हैं।

 

 

 

मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने बैंकुंठापुर की नहर पर पहुंची। पुलिस को देखते ही मांस तस्कर भागने लगे। पुलिस ने घेराबंदी करके अलियार खां निवासी सैदपुर चुन्नी लाल, फिरोज खां निवासी अलीनगर व सरफराज उर्फ हौवा निवासी रमपुरा माफी थाना भोजीपुरा को पकड़ लिया। मौके का फायदा उठाकर वसीम निवासी भूड़ा , मोहम्मद शरीफ उर्फ मेहनती निवासी अलीनगर मौके का फायदा उठाकर फरार हो गए।

 

 

 

प्रभारी निरीक्षक भोजीपुरा जगत सिंह ने बताया कि पकड़े गए उक्त मांस तस्करों ने 28 मई को हुई संरक्षित पशुओं की हत्या के जुर्म को स्वीकार किया है।पकड़े गए मांस तस्करों के कब्जे से पशु काटने के औजार बरामद हुए हैं। पुलिस ने पकड़े गए सभी आरोपियों को कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने तीनों आरोपियों को जेल भेज दिया। प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि फरार मांस तस्करों की तलाश में दविशें दी जा रही हैं। शीघ्र ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।पकड़े गए मांस तस्करों के खिलाफ भोजीपुरा समेत अन्य थानों में संरक्षित पशुओं की हत्या के केस दर्ज हैं। पकड़ने वाली टीम में एस आई रिंकू कुमार, एस आई अजीत सिंह, एस आई मनोहर सिंह, हेड कांस्टेबल विक्रम सिंह, कांस्टेबल अंकित हूण शामिल रहे।

Related posts

कल होगा जयप्रदा के भविष्य का फैसला , आज कोर्ट में हुई सुनवाई 

newsvoxindia

देखिये आज का पंचांग ,यह समय हो सकता है नए काम के लिए बेहतर ,

newsvoxindia

अखिलेश का सपाइयों को संदेश, जुटे जाए कार्यकर्ता, जीतना है बरेली-आंवला लोकसभा सीट

newsvoxindia

Leave a Comment