News Vox India
शहर

देवरानियां में सेवानिवृत्त शिक्षक सम्मान समारोह का हुआ आयोजन 

देवरनियां  । ब्लाक दमखोदा के डी.एस.एस पैलेस कठर्रा ढाल पर आयोजित किया गया ।प्रांतीय  उपाध्यक्ष , जिलाध्यक्ष बरेली प्राथमिक शिक्षक संघ नरेश गंगवार ने कहा कि सत्य न्याय की राह पर चलना एवं जीवन संघर्षों से लड़ना हमें शिक्षक ही सिखाते है । शिक्षक वह व्यक्ति है जो हमें अज्ञान से ज्ञान की ओर ले जाते हैं ।कार्यक्रम में विशिष्ट अथिति के रूप में मांडलिक मंत्री के.सी.पटेल उपस्थित रही । महोदय ने अपने संबोधन में शिक्षकों को भावी पीढ़ी निर्धारक के रूप में सर्वोच्च स्तम्भ की संज्ञा प्रदान करते हुए शिक्षक महिमा का व्याख्यान किया साथ ही बताया कि शिक्षक हमें अपना लक्ष्य पाने के योग्य बनाते है ।कार्यक्रम का विशिष्ट अथितित्व स्वीकार करते हुए करते हुए खंड शिक्षा अधिकारी दमखोदा प्रेम सुख गंगवार कार्यक्रम में उपस्थित रहे ।

Advertisement

 

 

 

 

प्रेमसुख गंगवार ने सेवानिवृत्त शिक्षकों को जीवन की द्वितीय पारी की शुभकामनाये देते हुए नवीन पीढ़ी को सदैव मार्गर्दर्शन देने की बात कही साथ ही उन्होंने जोर देकर कहा कि यदि किसी देश को भ्रष्टाचार मुक्त और सुन्दर-मन वाले लोगों का देश बनाना है । तो मेरा दृढ़तापूर्वक मानना है शिक्षको की भूमिका सदैव प्रथम पंक्ति में होगी । इस प्रकार के शिक्षक सम्मान संबंधी भव्य कार्यक्रमो के होते रहने की भरपूर प्रशंसा की साथ ही भविष्य में भी ऐसे आयोजन करते रहने हेतु संगठन से बात कही। कार्यक्रम मुख्य वक्ता एवं जिला मंत्री प्राथमिक शिक्षक संघ बलवीर सिंह ने शिक्षक को माली एवं विद्यार्थियों को पुष्प की संज्ञा देते हुए, कहा कि शिक्षक ही विद्यार्थियों से अवांछित को दूर सद्गुणों का विकास करते है ।

 

 

 

ब्लॉक अध्यक्ष मनोज गंगवार ने बताया कि एक औसत दर्जे का शिक्षक चीजों को बताता है, एक अच्छा शिक्षक समझाता है ।एक बेहतर शिक्षक कर के दिखाता है । और एक महान शिक्षक प्रेरित करता है ।.इसके साथ ही उन्होंने कहा कि एक उत्तम शिक्षक की प्रतिमा सदैव ही छात्रों के हृदय में निवास करती है ।तपन सिंह मौर्य ने कहा कि जन्म देने वालों से अच्छी शिक्षा देने वालों को अधिक सम्मान दिया जाना चाहिए । क्योंकि उन्होंने तो बस जन्म दिया है । पर उन्होंने जीना सीखाया है।शिक्षक सम्मान कार्यक्रमों को बढ़ावा दिया जाना चाहिए ।आगे उन्होंने गागर में सागर भरते हुए कहा केवल शिक्षक के पास ही वो कला है, जो मिट्टी को सोने में बदल सकती है,ये भविष्य निर्माता है ।

 

 

 

मोर किशोर मौर्य ने बताया कि गत वर्षों में कोरोना संक्रमण के कारण शिक्षक सम्मान कार्यक्रम बाधित रहा । अतः इस बार 2022-23 के साथ इस वर्ष के सेवानिवृत्त शिक्षकों को पुरस्कार से सम्मानित सम्मानित किया जा रहा है । इस वर्ष से निर्वाध रूप से प्रत्येक बर्ष कार्यक्रम का आयोजन होगा । संगठन सदैव इस हेतु प्रयास रत रहेगा । साथ ही उन्होंने जोर देकर कहा कि जाने कितने बार कोई शिक्षक अपनी विद्यालय की कक्षाओं में पंहुचा होगा । तब जाकर चंद्रयान और उसके जैसे कई अन्य अपनी कक्षाओं में पहुंचे होंगे ।वरिष्ठ ए.आर.पी हरीश कुमार ने बताया ब्लॉक से कुल 7 शिक्षक गत दो सत्रों में सेवानिवृत्त हुए । सभी सम्मानित सेवानिवृत्त शिक्षक साथी संगठन का जीवन पर्यंत सदस्य के रूप में रहेंगे । सेवानिवृत्त होने के पश्चात् भी संगठन सदैव उनके साथ कदम से कदम मिला कर खड़ा है ।पंकज सिंह ने कहा शिक्षक ही एक सफल राष्ट्र का निर्माण करते हैं ।उनका सम्मान आवश्यक ही नहीं अनिवार्य भी है । संगठन इस दिशा में सदैव कार्य करता रहेगा ।

 

कार्यक्रम का भलीभांति संचालन हेतु संचालन तपन सिंह मौर्य ने किया। कार्यक्रम में लगभग 100 से अधिक शिक्षकों ने प्रतिभाग किया ।इस दौरान उपस्थित रहने वालो महेंद्र पाल ,सुरेंद्र गुप्ता,कमलेश बाजपेयी,हरीश गंगवार, छत्रपाल सिंह,राजेश गंगवार,पुष्पेंद्र,अंशु गंगवार,ललित गंगवार,लख्मीचंद,सुनीता सिंह,सुषमा गंगवार,कंचन गंगवार,भारती पुंडीर,पूजा,प्रियंका,शशि गंगवार आदि पदाधिकारी सम्मिलित रहे ।

Related posts

भागवत कथा के दौरान मामूली कहासुनी में बच्चे बच्चे आपस मे भिड़े , मुकदमा दर्ज

newsvoxindia

आज वरियान और परिघ योग का सँयोग व्यापार में देगा उन्नति ,जानिए क्या कहते हैं सितारे,

newsvoxindia

मप्पल्स एप्प यातायात को दुरस्त करने में हो मददगार , पुलिसकर्मियों को दिया गया प्रशिक्षण,

newsvoxindia

Leave a Comment