News Vox India
शहर

सरकारी काम में बाधा डालने पर 12 ग्रामीणों पर मुकदमा दर्ज 

मंदिर की जमीन पर अन्नपूर्णा दुकान बताकर हुई  थीआपत्ति 

Advertisement

लेखपाल की जांच में  निर्माण नगर पंचायत की जमीन पर पाया गया 

 

 

राजकुमार ,
बरेली । मीरगंज के राजस्व ग्राम भिटौलीनगला की लेखपाल धम्म मित्रा ने 12 लोगों के विरुद्ध गांव में निर्माणाधीन राजकीय अन्नपूर्णा राशन गोदाम का निर्माण कार्य स्वार्थवश रुकवाने का आरोप लगाते हुए सरकारी काम में बाधा डालने का मुकदमा दर्ज कराया है।लेखपाल धम्म मित्रा ने थाने में तहरीर देकर बताया कि भिटौलीनगला में निर्माणाधीन राजकीय अन्नपूर्णा राशन दुकान के निर्माण कार्य को राजवीर देव चमरकलां शाहजहांपुर और भिटौली नगला के जोगराज, भगवानदास, सुरेश, राजपाल, अमर सिंह, नन्नुकी, अनेकपाल, नन्हें सिंह, प्रेमपाल, राम आसरे, ऊदल निजी स्वार्थवश तरह-तरह के अड़ंगे डालकर लगातार बाधित कर रहे हैं। समझाने पर झगड़े पर उतारू हो जाते हैं। महिला लेखपाल की तहरीर पर सभी 12 नामजद आरोपियों के विरुद्ध सरकारी कार्य में बाधा डालने के आरोप में आईपीसी की धारा 147 और 353 के तहत एफआईआर दर्ज कर ली गई है। प्रकरण की विवेचना एसआई बनवारीलाल को सौंपी गई है।

 

 

भिटौलीनगला के कुछ लोगों की शिकायत पर अन्नपूर्णा गोदाम की भूमि को विवादित मानते हुए एसडीएम मीरगंज देशदीपक सिंह ने निर्माण कार्य को रुकवा दिया था और तहसीलदार को जांच सौंपी थी।
शिकायतीपत्र में कहा गया था कि भिटौली नगला गांव में प्राचीन शिव मंदिर की भूमि पर अन्नपूर्णा गोदाम बनवाया जा रहा है। पैमाइश करवाकर इसे रुकवाया जाए। शिकायतीपत्र पर मंदिर के पुजारी बाबा राजवीर देव और 11 अन्य ग्रामीणों के हस्ताक्षर एवं निशानी अंगूठे थे।ग्रामीणों का दावा था कि मंदिर पर पिछले कई सालों से हर रोज नियमित रूप से पुजारी बाबा राजवीर देव की देखरेख में पूजा-अर्चना होती रही है। साथ ही मंदिर परिसर में हर वर्ष शिवरात्रि पर भारी मेला भी लगता है। ग्राम प्रधान बहुसंख्यक ग्रामवासियों और क्षेत्रीय लोगों की आस्था पर आघात करते हुए मंदिर की जमीन पर अवैध कब्जा कर सरकारी अन्नपूर्णा राशन गोदाम का निर्माण करवा रहे हैं,  जो गलत है और उनके इस कार्य से बहुत से लोगों की धार्मिक भावनाओं को ठेस लग रही है। इसलिए निर्माण कार्य फिलहाल रुकवाकर राजस्व विभाग से पैमाइश करवाई जाए।

 

 

एसडीएम श्री सिंह ने तहसीलदार को मामले की जांच करवाकर समस्या के  सर्वमान्य समाधान का जिम्मा सौंपा है।एसडीएम देशदीपक सिंह ने बताया कि विवादित भूमि राजस्व रिकार्ड में मंदिर की है अथवा ग्रामसभा की। यह  स्थिति तो स्थलीय पैमाइश के बाद ही  स्पष्ट हो सकेगी। फिलहाल पैमाइश पूरी होने और जांच रिपोर्ट मिलने तक अन्नपूर्णा राशन गोदाम के निर्माण कार्य को रोक दिया गया है।उधर, लेखपाल धम्म मित्रा ने बताया कि तहसीलदार के निर्देश पर राजस्व विभाग की टीम ने विवादित भूमि की पैमाइश की तो पाया कि जिस जगह पर अन्नपूर्णा राशन गोदाम का निर्माण कराया जा रहा है, वह मंदिर से बाहर ग्राम पंचायत की सरकारी जमीन है। उच्चाधिकारियों के आदेश पर ही संबंधित लोगों के विरुद्ध सरकारी कामकाज में बाधा डालने का मुकदमा दर्ज कराया गया है।

Related posts

Exclusive : नाथ नगरी आगामी 24 जून को मनाएगी अपना जन्मोत्सव , शासन से आया आदेश 

newsvoxindia

होली पर बाजार में सोना -चांदी के यह है भाव ,

newsvoxindia

अग्निपथ योजना के विरोध में संयुक्त किसान मोर्चा ने डीएम को दिया ज्ञापन , अग्निपथ योजना को वापस लेने की मांग ,

newsvoxindia

Leave a Comment